रेलवे में पहली बार: मनपसंद का मिलेगा खाना, डायबिटीज़ मरीज़ों के साथ साथ बच्चों का भी रेलवे बोर्ड की बैठक में ध्यान

रेलवे बोर्ड की बैठक में कई अहम फ़ैसले लिए गए हैं इसके अलावा नया ये किया गया है, कि यदि यात्री को कोई स्थानीय डिश खानी है तो उसे वहीं दी जाएगी इसके साथ साथ डायबिटीज़ के और बच्चों के स्वास्थ्य का भी खाना परोसने में पूरा ध्यान  रखा जाएगा । आज यानि मंगलवार को रेल बोर्ड के एक आदेश में कहा गया है कि आईआरसीटीसी को स्थानीय और क्षेत्रीय व्यंजनों के साथ-साथ शुगर रोगियों, बच्चों और स्वास्थ्य प्रेमियों के लिए उपयुक्त भोजन को अपने मेन्यू में शामिल करने के लिए बदलाव की छूट दे दी गई है। बोर्ड ने मंगलवार को इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) को अपनी खाने की सेवाओं में सुधार लाने और यात्रियों को अधिक विकल्प देने के उद्देश्य से अपने मेनू को बदलने की इजाजत दी है।

आदेश में कहा गया कि ट्रेनों में खानपान सेवाओं में सुधार किया जा रहा है। इसी को आगे बढ़ाते हुए, आईआरसीटीसी को मेनू को कस्टमाइज करने की इजाजत देने का फैसला लिया गया है ताकि यात्रियों की प्राथमिकताओं के आधार पर क्षेत्रीय व्यंजनों, मौसमी व्यंजनों, त्योहारों के खाने और अन्य खाद्य पदार्थों को अलग-अलग पसंद के अनुसार मेनू में शामिल किया जा सके। इसके साथ ही यात्रियों को डायबिटिक फूड, बेबी फूड, हेल्थ फूड के विकल्प भी दिए जाएंगे। शताब्दी वदे भारत जैसी ट्रेन में IRCTC की ओर से खाना परोसा जाता है राजधानी में खाने की भी पूरी व्यवस्था की जाती है

Previous post सपा से विधायक बने रघुराज सिंह शाक्य पर भाजपा ने मैनपुरी में लगाया दांव, आज करेंगे नामाकंन
Next post सड़क पर पैदल चल रहे लोगों का भी ध्यान रखे: गणेश प्रसाद