राहुल गांधी का केेंद्र पर हमला, कहा तेल की बढ़ती कीमतों पर चुप हैं मोदी

नई दिल्ली। दिन प्रति दिन बढ़ती पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर सोमवार को कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने भारत बंद का एएलान किया है। कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों के नेता बढ़ती महंगाई के खिलााफ रामलीला मैदान नई दिल्ली में विरोध जता रहे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस दौरान मोदी सरकार पर जमकर हल्ला बोला। राहुल ने कहा तेल की बढ़ती कीमतों पर पीएम मोदी एक शब्द नहीं बोलते हैं। जो देश सुनना चाहता है उस पर मोदी कभी कुछ नहीं बोलते हैं। यहां तक कि दुष्कर्म, महंगाई और राफेल जैसे तमाम मुद्दों पर भी मोदी शांत हैं।

‘ राहुल ने आगे कहा कि सरकार द्वारा देशभर में टॉयलेट बनाए गए लेकिन उनमें पानी नहीं है। मोदी जहां जाते हैं वहां लोगों को तोड़ते हैं। किसान-मजदूरों को आज कोई रास्ता नहीं दिख रहा है। राहुल ने कहा कि आज पूरा विपक्ष यहां एक साथ बैठा है। हम सब मिलकर भाजपा को हटाने का काम करेंगे।

इससे पहले, कैलास मानसरोवर की यात्रा के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजघाट पहुंचकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। राहुल गांधी और विपक्ष के कई नेता राजघाट से मार्च कर रामलीला मैदान पहुंचे। यहां सोनिया गांधी, राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, शरद पवार, शरद यादव और गुलाम नबी आजाद समेत कई बड़े नेता मौजूद हैं। बतादें कांग्रेस के अलावा डीएमके, एनसीपी, आरजेडी, सपा और एमएनएस सहित देश की करीब 20 विपक्षी पार्टियां विरोध-प्रदर्शन कर रही है।

भारत बंद का कुछ राज्यों में असर देखने को मिल रहा है। बिहार में कई जगहों पर बंद समर्थकों ने ट्रेनों रोक दी है। बसों में भी तोडफ़ोड़ की गई है। पटना के कई इलाकों में बंद समर्थक उत्पात मचा रहे हैं। कई जगह गाडिय़ों के शीशे तोड़ दिए गए हैं। लोगों को खदेड़ा गया है और पिटाई भी की गई है। पटना में बड़ी संख्या में बंद समर्थक भाजपा कार्यालय के सामने पहुंचे और नारेबाजी कर रहे हैं। पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं।
यूपी में भी जगह-जगह कांग्रेसी कार्यकर्ता तेल कीमतों को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। राजधानी लखनऊ में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर के नेतृत्व में दुकानें बंद कराई गईं। वहीं समाजवादी पार्टी ने भी भारत बंद से अलग बढ़ती महंगाई और किसानों के मुद्दे को लेकर प्रदेशव्यापी धरने का एलान किया है। हालांकि बसपा ने कांग्रेस के भारत बंद के आह्वान पर चुप्पी साध ली है।
उत्तराखंड में बंद का मिलाजुला असरभाजपा शासित उत्तराखंड में भारत बंद का कोई खास असर देखने को नहीं मिला। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में पार्टी के पदाधिकारी और सदस्यों ने शहर में महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस दौरान समर्थन में बाजार और दूसरे संस्थान बंद कराए।
वहीं कर्नाटक सरकार ने सोमवार को भारत बंद के मद्देनजर एहतियातन बेंगलुरु के सभी शैक्षणिक संस्थानों के लिए अवकाश की घोषणा की। मंगलूरू में उपद्रवियों ने एक प्राइवेट बस पर पत्थर भी फेंके।

यहां से शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का नोएडा बंद
Next post पेरिस में एक युवक ने लोगों पर किया चाकू से हमला, दो ब्रिटिश पर्यटकों समेत सात जख्मी