अमूल ब्रांड का घी और मक्खन कर सकता है सेहत से खिलवाड़, जानें पूरा मामला

नोएडा। पुलिस ने मिलावटी घी और मक्खन को अमूल ब्रांड के डब्बे में पैक कर बाजार में बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। इसलिए अमूल का असल और नकली में पहचान कर पाना ग्रहाको के लिए मुकिश्ल है। कोतवाली फेज-3 पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए युवको की पहचान शेखपुरा, बिहार निवासी संजय कुमार, बागपत निवासी राजकुमार, गाजियाबाद निवासी आसिफ व साजिद और हापुड़ निवासी दीपक मल्होत्रा के रूप में हुई है। ये सभी पांच महीने से सेक्टर-70 में एक मकान में पैकिंग और पैकेजिंग का काम कर रहे थे। आरोपियों के पास से करीब पांच क्विंटल मिलावटी घी और मक्खन बरामद किया है। वहीं मामले में 6 आरोपी फरार हैं।

यह भी पढ़े: Delhi News:मदरसे में आगः बाल बाल बचें छात्र, मची चीख-पुकार

सेक्टर 70  में चल रही थी फैक्ट्री
नोएडा सेंट्रल के डीसीपी राम बदन सिंह ने बताया कि कोतवाली फेज-3 पुलिस की टीम ने सूचना के आधार पर सेक्टर-70 के एक मकान में दबिश दी। यहां से मिलावटी घी और मक्खन को अमूल ब्रांड के डब्बे में पैक कर बाजार में बेचे जाने का खुलासा हुआ। मिलावटी मक्खन और घी की आपूर्ति नोएडा के अलावा गाजियाबाद में भी की जाती थी। डीसीपी रामबदन सिंह ने बताया कि ब्रांडेड कंपनी के प्रतिनिधियों की ओर दी गई सूचना पर कार्रवाई की गई थी।

डीसीपी के मुताबिक संजय और राजकुमार मिलकर गिरोह चलाते थे। दोनों दिल्ली के खारी बावली से अमूल के नकली रैपर बार कोड सहित थोक भाव में लेकर आते थे। इसे सेक्टर-70 स्थित मकान में रखकर इनमें कम कीमत वाले मक्खन और घी को न्यू कोंडली से लाकर भर देते थे। इस पर अमूल का रैपर व बार कोड लगाकर बेचते थे। इससे आरोपियों को करीब चार गुना तक फायदा होता था। आरोपी घी और मक्खन रेहड़ी पटरी वालों को बेचते थे। जरा सोचिए कि अब तक इस गिरोह ने कहा कहा कितना माल खपाया होगा। जो लोग असली समझकर इसका सेवन कर रहे होगे उनकी सेहत खराब होना लाजमी है।

यहां से शेयर करें
Previous post Delhi News:मदरसे में आगः बाल बाल बचें छात्र, मची चीख-पुकार
Next post नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्टः एटीसी की पहली मंजिल का काम