Ramcharitmanas:स्वामी की जबान काटकर लाने वाले को 5 लाख का ईनाम

Ramcharitmanas: रामचरितमानस पर विवादित बयान देकर सपा के वरिष्ठ नेता एवं विधान परिषद सदस्य स्वामी प्रसाद मौर्य मुश्किलों में फंस गए हैं। हिंदूवादी संगठन, सत्ता पक्ष के साथ ही उनकी पार्टी भी उनसे नाराज है। इसी बीच यूपी के रायबरेली में भाजपा के युवा मोर्चा के महामंत्री ने कहा है कि स्वामी प्रसाद की जबान काटकर लाने वाले को 5 लाख का नकद ईनाम दिया जाएगा।

आज भाजपा युवा मोर्चा के महामंत्री करन सिंह करीब एक दर्जन से अधिक कार्यकर्ताओं के साथ शहर के डिग्री कॉलेज चैराहे पर पहुंचे। यहां सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य का पुतला फूंका। नारेबाजी भी की। आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने कहा स्वामी प्रसाद मौर्य की इतनी हैसियत नहीं है कि रामचरितमानस पर एक शब्द भी बोल सकें।

यह भी पढ़े: Gorakhpur: दूधिए को तब तक पीटते रहे जब तक दम नही तोड़ा

सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क कहा किसी धर्म की तौहीन एक जुर्म
रामचरितमानस पर स्वामी प्रसाद मौर्य के विवादित बयान पर भले ही सपा ने उनके इस बयान पर किनारा कर लिया हो लेकिन सपा सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा है कि किसी भी धर्म की किताब की तौहीन करना जुर्म करने के बराबर है। उन्होंने पीएम और गृहमंत्री से स्वीडन में कलाम-ए-पाक यानि कुरान के अपमान पर यूएनओ से इस मसले को लेकर आवाज उठाने की मांग की।

यह भी पढ़े: Amity University: मम्मी मैं तुम्हारी जैसी बहादुर नहीं, लिखा और फंदे पर झूल गई

 

Ramcharitmanas: सांसद डॉ. बर्क ने स्वीडन में कुरान शरीफ की बेहुरमती करने की घटना की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से गुजारिश की है कि वह इस मसले को यूएनओ में उठाएं, क्योंकि विभिन्न देशों ने इस मामले में अपना पक्ष रखा है। पीएम और गृहमंत्री से गुजारिश करता हूं कि वह भी इस मामले में भारत की ओर से मुस्लिम समाज का पक्ष रखें। कुरान का अपमान मुसलमान बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेगा।
उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य का नाम लिए बगैर कहा कि कोई भी धर्म हो चाहे, वह हिंदू हो, मुस्लिम हो या फिर कोई अन्य धर्म, किसी भी धर्म की ग्रंथ की तौहीन करना गलत है। मैं इसके खिलाफ हूं। उन्होंने सरकार से मांग की है कि किसी भी धर्म ग्रंथ की तौहीन करना जुर्म करार दिया जाए।

यहां से शेयर करें
Previous post Gorakhpur: दूधिए को तब तक पीटते रहे जब तक दम नही तोड़ा
Next post UP DAY: तीनों प्राधिकरणों ने किया जिले की औद्योगिक ताकत का प्रदर्शन