Pakistan financial Crisis: पाकिस्तान में भुखमरी जैसे हालात बने

Pakistan financial Crisis: भारत से मुकाबला करने की बात करने वाले पाकिस्तान में हालात भुखमरी जैसे बन रहे है। आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाक पर एक और संकट गहरा गया है। दरअसल, जहाजों के एजेंटों ने पाकिस्तानी सरकार को आगाह किया है कि सभी निर्यात कार्गो रुक सकते हैं क्योंकि विदेशी शिपिंग लाइनें देश के लिए अपनी सेवाओं को रोकने पर विचार कर रही हैं। एजेंटों ने कहा है कि बैंकों ने डॉलर की उपलब्धता में कमी के कारण उन्हें माल ढुलाई शुल्क देना रोक दिया है इसलिए यह समस्या उत्पन्न हो रही है।

 

पाकिस्तान शिप एजेंट्स एसोसिएशन (पीएसएए) के अध्यक्ष अब्दुल रऊफ ने वित्त मंत्री इशाक डार को लेटर के जरिए चेतावनी दी है कि सीमावर्ती देशों के अलावा, पाकिस्तान से लगभग सभी अंतरराष्ट्रीय रसद समुद्र द्वारा संचालित की जाती हैं और कोई भी व्यवधान देश के इंटरनेश्नल बिजनेस के लिए गंभीर समस्याएं पैदा कर सकता है।

यह भी पढ़े: Delhi News: आसमान में एक माह तक ड्रोन-टॉय एयरक्राफ्ट उड़ाने पर रोक

Pakistan financial Crisis: एसोसिएशन ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय व्यापार बंद कर दिया जाता है तो आर्थिक स्थिति और खराब हो जाएगी। डॉन अखबार ने बताया कि पीएसएए के अध्यक्ष ने स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) के गवर्नर जमील अहमद, वाणिज्य मंत्री सैयद नवीद नमार और समुद्री मामलों के मंत्री फैसल सब्जवारी को भी पत्र भी लिखे हैं। लेकिन फिलहाल कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

रऊफ ने सभी संबंधित मंत्रालयों और विभागों से आग्रह किया कि वे संबंधित विदेशी शिपिंग लाइनों को अतिरिक्त माल ढुलाई राशि के जावक प्रेषण की अनुमति देकर पाकिस्तान के समुद्री व्यापार में निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए हस्तक्षेप करें। पत्र में कहा गया है कि संबंधित विदेशी शिपिंग लाइनों के लिए अधिशेष माल राशि के बाहरी प्रेषण को बंद करने के कारण, पाकिस्तान के समुद्री व्यापार में बाधा आ रही है, जो विदेशी शिपिंग लाइनों पर बहुत अधिक निर्भर है। यदि समय रहते ये संकट दूर नही हुए तो पाक तबाह होने की कगार पर पहुंच जाएगा।

यहां से शेयर करें
Previous post Punjab News: CM Mann ने फाजिल्का जि़ले में बाढ़ पीडि़तों को मुआवज़ा राशि के चैक सौंपे
Next post Punjab Government द्वारा ‘बेटियों की लोहड़ी’ को समर्पित हफ़्ता आयोजित