डॉक्टर नहीं जल्लाद है ये! बेटे की मौत के बाद रोते हुए बोली महिला

एक जमाना था जब डॉक्टरों को नीचे का भगवान कहा जाता था। लेकिन आजकल डॉक्टरों पर ही गंभीर आरोप लगने लगे है। नोएडा सेक्टर 62 स्थित फोर्टिस अस्पताल के डॉक्टरों पर लापरवाही बरतने के कारण एक इंजीनियर की मौत होने के आरोप लग रहे हैं। परिजनों ने अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा किया। हालांकि अस्पताल प्रबंधन अपना पल्ला झाड़ते हुए बोल रहा है कि इंजीनियर के परिजनों को पहले ही समझाया गया था कि कुछ भी हो सकता है। वही 24 वर्षीय इंजीनियर की मां का रो रो कर बुरा हाल है उन्होंने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया और कहा कि अस्पताल में वे अपने बेटे को ठीक-ठाक लाई थी जिस की थोड़ी तबियत खराब थी। लेकिन अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही के कारण उसकी मौत हुई है। रोते हुए महिला बोली थी यह डॉक्टर नहीं जल्लाद है। इन्हीं की लापरवाही से मेरे बेटे की जान गई है डॉक्टरों ने बिल के नाम पर लाखों रुपए भी ले लिए मगर बदले में बेटे की बजाय उसकी लाश दे दी है। फोर्टिज अस्पताल की ओर से सही उपचार करने की बात कही जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post जंगल की जमीन में दबा मिला हथियारों का जखीरा किसे है हथियार
Next post मिठाईयों की दुकानो पर छापेमारी दीवाली का मजा बिगाड़ने की कोशिशः नरेश कुच्छल