PollutionIn NCR: सांसो पर संकट: राजनीति में प्रदूषण

पंजाब में चल रही पराली कर रही हवा खराब-अरुण कुमार
प्रदूषण का स्तर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार सांस लेने पर संकट बढ़ता जा रहा है। दिल्ली एनसीआर मे घूएं की चादर में वातावरण है। आज उत्तर प्रदेश के पर्यावरण एवं वन मंत्री अरुण कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रदूषण के लिए पंजाब में जल रही पराली को पूरी तरह जिम्मेदार ठहरा दिया। अरुण कुमार ने कहा कि अरविंद केजरीवाल कदम कदम पर झूठ बोल रहे हैं। उनके दावे खोखले साबित हो रहे हैं। जिला गौतम बुद्ध नगर को प्रदूषण से बचाने के लिए अलग-अलग तरह से तैयारियां की गई हैं। उन्होंने कहा कि पिछले साल नोएडा में एंटी स्मॉग टावर शुरू किया गया था। स्मॉग गन का इस्तेमाल करके वायु गुणवत्ता को सुधारा जा रहा है। उन्होंने बताया कि यहां तमाम प्रशासनिक और प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि जगह-जगह स्प्रिंगलिंग से जल छिड़काव किया जाए। पेड़ पौधों पर पानी डाला जाए ताकि प्रदूषण को कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि संशोधित ग्रेप के संबंध में उन्होंने रिव्यू मीटिंग ली है। ताकि पता चल सके कि अधिकारियों ने क्या-क्या काम किए हैं। यूपी के एनसीआर के जिलों में सीएम योगी के निर्देश पर काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदूषण का कारण पछुआ हवा है पराली जल रही है जिससे हवा इधर आ रही है। ऑटोमोबाइल भी प्रदूषण का कारण है क्योंकि गाड़ियां चल रही है और धुआं निकल रहा है। इसके साथ ही साथ हम कोशिश कर रहे हैं कि औद्योगिक क्षेत्र में ग्रीन कोयला का उपयोग करें, ताकि प्रदूषण को रोका जा सके। अरूण कुमार ने कहा कि स्कूलों की छुट्टियां कर दी गई है जिससे कि बसे ना चले उन्होंने जनता से अपील की कि कम से कम वहान चलाएं और कार पुलिंग करें। जगह-जगह कूड़ा ना जलाएं कूड़े से भी प्रदूषण हो रहा है। विवाह समारोह में जश्न के दौरान पटाखे कम से कम जलाए जाने चाहिए ताकि धुआं ना हो उन्होंने दावा किया कि दिवाली के बाद प्रदूषण नहीं बढ़ा लेकिन पराली जलने के बाद प्रदूषण का स्तर बढ़ता जा रहा है।

Previous post YEIDA: जल्द रोएंगे इन बिल्डरों के बायर्स, प्राधिकरण कैंसल करेंगा भूखण्ड
Next post पीएम मोदी राधा स्वामी सत्संग ब्यास के डेरा पहुंचे, कितने प्रभावित होंगे वोटर