Noida: डी कंपनी ऑपरेट करती है ऑनलाईन गेमिंग, 400 करोड़ का खुलासा

 

Noida Breaking News: नोएडा पुलिस की एक मामले में किरकिरी होने के बाद अब एक इंटरनेशनल गेमिंग बैटिंग साइट (महादेव गेमिंग ऐप) का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने इस मामले में देश के अलग-अलग शहरों से 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों ने डेढ़ महीने में 400 करोड़ रुपए से ज्यादा के लेनदेन किए हैं।
डीसीपी हरीश चन्दर ने बताया कि ट्रैसिंग में इनका सरगना दुबई से बैठकर यहां गेमिंग को ऑपरेट करता हुआ मिला है। डी-कंपनी से भी ये मामला जुड़ रहा है। पुलिस मामले में ईडी से संपर्क कर रही है। हालांकि, पुलिस ने इस बारे में अभी साफ नहीं किया है। गिरफ्तार लोगों के पास से झांसी नंबर की दो लग्जरी कारें भी मिली हैं।

यह भी पढ़े: Noida News: फर्जी तरीके से गोद लिया बच्चा, पोल खुली तो जाने क्या हुआ
डीसीपी हरीश चन्दर ने बताया कि महादेव बुक का ऑनर सौरभ चंद्राकर है। इंडिया में उसका एक एजेंट सचिन सोनी पूरे मामले को डील करता था।क्ब्च् ने बताया कि नोएडा में सेक्टर-108 के मकान नंबर डी-309 फ्लैट से ये ऑनलाइन गेम ऑपरेट हो रहा था। ये मकान वेब डिजाइनिंग के कार्य के लिए 68 हजार महीने किराए पर लिया गया था। ये मकान तीन मंजिला का है। ग्राउंड फ्लोर पर गाड़ियां खड़ी होती थी। और तीसरे तल पर इन लोगों ने अपना सेटअप लगाया था। अंदर व बाहर जाने के दौरान ये लोग ताला लगाकर जाया करते थे।

यह भी पढ़े:Noida News: दिल्ली के चिड़ियाघर की तर्ज बनेगा वेस्टू टू वंडर पार्क

Noida Breaking News: उन्होंने बताया कि नोएडा पुलिस ने खुद किराएदार बनकर वहां एक फ्लैट लिया। और इनकी रेकी की। मामला संदिग्ध होने पर दबिश दी गई। डीसीपी ने बताया कि दो माह में 10 बैंकों के 26 फर्जी बैंक खातों में 4 अरब 5 करोड़ 91 लाख 90 हजार रुपए के ट्रांजेक्शन की जानकारी मिली। इन पैसों को अन्य बैंक खातों में ट्रांसफर कर दिया गया। शेष 1 करोड़ 86 लाख से ज्यादा की रकम को पुलिस ने फ्रीज किया है।लिस सोर्स के मुताबिक, इस इंटरनेशनल गेमिंग बैटिंग साइट का संचालक मास्टरमाइंड सौरभ चंद्राकर है। ये अभी दुबई में है। वहीं से ये वॉट्सऐप कॉल के जरिए इन लोगों से जुड़ता था। ऑनलाइन गेमिंग की ट्रेनिंग देता था। सूत्रों ने बताया कि इसके पीछे ईडी भी लगी हुई है।

यह भी पढ़े:Greater Noida West: घटिया है बिल्डर की सामग्री, गिर रहा प्लास्टर

पकड़े गए सभी आरोपी इसी के लिए काम करते हैं। इस मामले में 9 और भी शामिल हैं, जिनकी लिस्टिंग की गई है। इन सभी को भी गिरफ्तार करने की तैयारी है। इनके पास से चेक बुक, पासपोर्ट बरामद हुए हैं।लिस धोखाधड़ी, एन्क्रिप्टेड डॉक्यूमेंट तैयार करना, साजिश करना और प्ज् एक्ट के तहत केस चला रही है। पकड़े गए आरोपियों में तरुण लखेरा, राहुल, अभिषेक, आकाश साहु, हिमांशु, अनुराग वर्मा, विवेक, दीपक, विशाल शर्मा, अभी रावत, दिव्य प्रकाश, हर्षित चैरासिया, आकाश तिवारी, नीरज गुप्ता, आकाश जोशी और दीपक शामिल हैं। 14 आरोपियों को झांसी, 1 लखनऊ और 1 को जालौन से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस पूछताछ कर इनके पूरे नेटवर्क का पता लगाने में जुटी है। इसके अलावा ईडी और सीबीआई को भी जानकारी दी जाएंगी।

यहां से शेयर करें
Previous post Noida News: फर्जी तरीके से गोद लिया बच्चा, पोल खुली तो जाने क्या हुआ
Next post Yamuna Expressway: कैसे हो सकता है कि गाड़ी में शव फंसे और 11 तक चालक को पता न चलें