1 min read

राष्ट्रीय गौरव सम्मान का आयोजनमहिलाओं की इज्जत करना हर पुरुष का दायित्व : डा. गोपाल

नई दिल्ली। महिला और पुरुष की समान भागीदारी ही घर को, समाज को और देश को आगे ले जाती है। आज समय आ गया है की महिलाओं को देवी के रूप में न देखकर एक आम इंसान के रूप में देखना चाहिए और उसे वो सम्मान और वो बराबरी भी मिलनी चाहिए जिसकी वो हक़दार है यह कहना था स्पीकर हॉल कान्सिटटयूशन क्लब में आयोजित राष्ट्रीय गौरव सम्मान समारोह में लोकसभा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र का।
उन्होंने आगे कहा की आज जितने भी लोग यहाँ उपस्थित हुए है वह सभी प्रशंसा के योग्य है और उन्होंने अपने अपने क्षेत्र में अग्रणी काम किया है। इस अवसर पर डायरेक्टर आर्मी एयर फॉर्स ले. जनरल ऐ. पी सिंह, आज का प्रहरी के संतोष दुबे, ग्लोबल योग एलाएंस के निदेशक डा. गोपाल व डॉ. सोनिया रावत उपस्थित हुए।
डा. गोपाल ने कहा की महिलाओं की इज्जत करना हर पुरूष का दायित्व है फिर चाहे वह उसका भाई हो दोस्त हो पति हो या फिर सहकर्मी और इस चलन की शुरूआत हर इंसान को अपने घर से करनी चाहिए।
एक महिला एवं पुरुष मिलकर ही अपने बेटे को महिलाओं की इज्जत करना सिखा सकती है जो आज के समय में सबसे ज़रूरी है।
कलराज मिश्र ने कहा की यह मेरे लिए गौरव की बात है कि मुझे इतनी विशिष्ठ लोगो को सम्मानित करने का अवसर मिला, ऐसे ही लोग देश का उद्धार करते है।
इस कार्यक्रम में सतगुरु ब्रह्मेश्वरानंद, कारगिल युद्ध विजेता सतबीर सिंह, कुसुम शाह जैन, योगेंद्र दुबे भारतीय विकास संसथान मुंबई, डॉ. अलोक कुमार मिश्रा अध्यक्ष ब्रेन बिहेवियर रिसर्च फाउंडेशन मुंबई, नीति धवन मिसेज़ एशिया अर्थ, इंदु आहूजा, आशा त्रिवेदी समाजसेविका, कुमकुम शर्मा और रविंद्र नाथ त्रिपाठी को राष्ट्रीय गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।

नई दिल्ली। महिला और पुरुष की समान भागीदारी ही घर को, समाज को और देश को आगे ले जाती है। आज समय आ गया है की महिलाओं को देवी के रूप में न देखकर एक आम इंसान के रूप में देखना चाहिए और उसे वो सम्मान और वो बराबरी भी मिलनी चाहिए जिसकी वो हक़दार है यह कहना था स्पीकर हॉल कान्सिटटयूशन क्लब में आयोजित राष्ट्रीय गौरव सम्मान समारोह में लोकसभा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र का।
उन्होंने आगे कहा की आज जितने भी लोग यहाँ उपस्थित हुए है वह सभी प्रशंसा के योग्य है और उन्होंने अपने अपने क्षेत्र में अग्रणी काम किया है। इस अवसर पर डायरेक्टर आर्मी एयर फॉर्स ले. जनरल ऐ. पी सिंह, आज का प्रहरी के संतोष दुबे, ग्लोबल योग एलाएंस के निदेशक डा. गोपाल व डॉ. सोनिया रावत उपस्थित हुए।
डा. गोपाल ने कहा की महिलाओं की इज्जत करना हर पुरूष का दायित्व है फिर चाहे वह उसका भाई हो दोस्त हो पति हो या फिर सहकर्मी और इस चलन की शुरूआत हर इंसान को अपने घर से करनी चाहिए।
एक महिला एवं पुरुष मिलकर ही अपने बेटे को महिलाओं की इज्जत करना सिखा सकती है जो आज के समय में सबसे ज़रूरी है।
कलराज मिश्र ने कहा की यह मेरे लिए गौरव की बात है कि मुझे इतनी विशिष्ठ लोगो को सम्मानित करने का अवसर मिला, ऐसे ही लोग देश का उद्धार करते है।
इस कार्यक्रम में सतगुरु ब्रह्मेश्वरानंद, कारगिल युद्ध विजेता सतबीर सिंह, कुसुम शाह जैन, योगेंद्र दुबे भारतीय विकास संसथान मुंबई, डॉ. अलोक कुमार मिश्रा अध्यक्ष ब्रेन बिहेवियर रिसर्च फाउंडेशन मुंबई, नीति धवन मिसेज़ एशिया अर्थ, इंदु आहूजा, आशा त्रिवेदी समाजसेविका, कुमकुम शर्मा और रविंद्र नाथ त्रिपाठी को राष्ट्रीय गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।

यहां से शेयर करें