Ghaziabad: डासना जेल में कई कैदीं मिले एचआईवी पाॅजिटिव

जेल में कैदियों की सुरक्षा पर हमेशा सवाल उठते रहते हैै। क्या बाहर से जाने वाले बंदी जेल में स्वस्थय रह सकते है। आये दिन मारपीट की खबरों के बीच अब चैकाने वाली खबर सामने आई है। डासना जेल में कैदियों की नियमित स्वास्थ्य जांच हाने के बाद पता चला है लगभग 5,500 कैदियों में से 140 एचआईवी पॉजिटिव हैं। इस जेल में पिछले दो हफ्तों में 250 कैदी आए हैं इनमें से चार एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं। डासना जेल अधीक्षक आलोक सिंह ने कहा है कि यह संख्या 125-150 की सीमा के भीतर है। आलोक सिंह के मुताबिक जेल ने 2016 में कैदियों के लिए एचआईवी जांच की थी। पहली बार में 49 कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाए गए थे।
जेल अधीक्षक आलोक कुमार सिंह इस मामले पर बयान देते हुए कहा कि डासना जेल में बंद 140 कैदियों में एचआईवी की पुष्टि हुई है। वहीं 17 टीबी मरीज हैं। उन्होने कहा कि जेल में क्षमता से अधिक कैदी माजूद हैं हापुड़ की भी जेल गाजियाबाद ही है इसलिए यहां पर जेल में कैदियों की संख्या ज्यादा है। 140 एचआईवी पॉजिटिव मरीजों के सामने आने पर उन्होने कहा कि घबराने की बात नहीं है यह रूटीन की जांच है और जैसे ही मरीज के बारे में पता चलता है तो उनका इलाज भी शुरू हो जाता है। जेल अधीक्षक ने कहा कि ज्यादातर नशे करने वाले कैदियों में यह बीमारी पाई गई है क्योंकि वह एक ही सिरिंज और सुई से नशा करते हैं जिसकी वजह से यह बीमारी फैल जाती है।

Previous post Gujrat: चुनाव में पाटीदार समाज की अहम भूमिका
Next post उत्तराखण्ड के जोशी मठ के पास सड़क हादसे में 12 की मौत