ग्रेनो में इंटीग्रेटेड यूनिवर्सिटी खोलने को आगे आया मलेशिया

Greater Noida:  मलेशियाई बेस्ड शिक्षण संस्थान लिंकन युनिवर्सिटी कॉलेज (Malaysian-based educational institution Lincoln University College) ग्रेटर नोएडा में इंटीग्रेटेड विश्वविद्यालय खोलना चाह रहा है। इसी सिलसिले में एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को सीईओ रितु माहेश्वरी (CEO Ritu Mashawari) से मुलाकात की और प्लान पर चर्चा की। प्रतिनिधिमंडल को जमीन भी दिखा दी गई है। ग्लोबल इनवेस्टर समिट के बाद जमीन आवंटन की प्रक्रिया शुरू हो सकती है।
संस्था ने 100 से 150 एकड़ जमीन मांगी है। इस पर 2000 करोड़ रुपये का निवेश होगा।
50 हजार छात्र उच्च तकनीकी शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे। इस विश्वविद्यालय में 5000 रोजगार के अवसर भी मिलेंगे।
ग्रेटर नोएडा सिर्फ औद्योगिक निवेश ही नहीं, बल्कि शैक्षणिक निवेश का भी केंद्र बना हुआ है। देश-विदेश के तमाम बड़े निवेशक यहां निवेश करना चाह रहे हैं। ग्लोबल इनवेस्टर समिट में एक लाख करोड़ रुपये के करार से यह बात साबित भी हो रही है। निवेशकों की इसी कड़ी में एक बड़ा नाम लिंकन युनिवर्सिटी कॉलेज भी जल्द जुड़ सकता है। संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. अमिया भौमिक और कार्यकारी निदेशक डॉ. अब्दुल रफीक ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी से मुलाकात की और अपने प्रोजेक्ट से अवगत कराया। ग्रेटर नोएडा में इंटीग्रेटेड युनिवर्सिटी खोलने की इच्छा जताई। युनिवर्सिटी खोलने के लिए 100 से 150 एकड़ जमीन मांगी गई है। प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी के निर्देश पर ओएसडी नवीन कुमार सिंह ने युनिवर्सिटी के लिए नॉलेज पार्क फाइव, टेकजोन टू और गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय के पास खाली जमीन दिखा दी है।

यह भी पढ़े: Greater Noida Authority पर किसानो ने बांधी भैंसे और बजाई बीन

Greater Noida : ये तीनों ही लोकेशन पसंद आई है। यहां का इंफ्रास्ट्रक्चर भी बहुत पसंद आया है। इन तीनों लोकेशनों में से किसी एक का चयन कर शीघ्र ही फाइनल प्रस्ताव सबमिट करने की बात कही है। संस्था प्रतिनिधियों ने 2000 करोड़ रुपये के निवेश की इच्छा जताई गई है। इस इंटीग्रेटेड युनिवर्सिटी में 50 हजार छात्रों को उच्च तकनीकी शिक्षा प्राप्त हो सकेगी। इसमें 5000 लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार भी मिलेगा। संस्था की तरफ से ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट के अंतर्गत भी ग्रेटर नोएडा में 2000 करोड़ रुपये के निवेश के लिए करार भी किया गया है। इनवेस्टर्स समिट के बाद जमीन आवंटन की प्रक्रिया हो सकती है। संस्था के प्रतिनिधियों ने कहा कि एनसीआर के अन्य शहरों का भी जायजा ले चुके हैं। ग्रेटर नोएडा उन्हें सर्वाधिक पसंद आया है। यहां निवेश करने के इच्छुक हैं। सीईओ से मुलाकात के दौरान एसीईओ प्रेरणा शर्मा और अमनदीप डुली भी मौजूद रहे।

यहां से शेयर करें
Previous post Greater Noida Authority पर किसानो ने बांधी भैंसे और बजाई बीन
Next post Noida News: एमबीबीएस के नाम पर ऐसे करते थे ठगी