Delhi: बारिश हुई तो मिलेगी राहत,एक्यूआई लेवल में आई कमी

 

पराली का धुआं दम घोंट रहा है। आज बारिश होने की संभवनाओं के बीच लोगों को उम्मीद है कि प्रदूषण से राहत मिल सेकती है। आज करीब एक बजे जैसे ही बारिश होने का माहौल बना तो लोग राहत महसूस करने लगें। दिल्ली नोएडा के प्रदूषण में पराली के धुएं की हिस्सेदारी 14 प्रतिशत दर्ज की गई। चार दिन पहले, यानी तीन नवंबर को यह 34 फीसदी तक पहुंच गई थी। इससे वायु गुणवत्ता का स्तर भी श्गंभीरश् श्रेणी में चला गया था।दिल्ली में इस बार दिवाली के आसपास हवा बीते आठ साल में सबसे ज्यादा साफ थी, लेकिन दिवाली के दो-तीन दिन बाद ही पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की घटनाओं में तेजी दर्ज की जाने लगी। हवा की दिशा उत्तरी पश्चिमी होने के कारण दिल्ली की वायु गुणवत्ता पर इसका साफ असर देखा गया है।

बीते सात दिन में लोगों ने गंभीर वायु गुणवत्ता वाले तीन दिनों का सामना किया। इस दौरान वायु गुणत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 450 तक पहुंच गया। प्रदूषण की परत जमने से आसमान धुंधला सा नजर आने लगा था। अब हवा की दिशा में आए बदलाव के चलते दिल्ली को हल्की राहत मिली है।

एक्यूआई में 15 अंकों का इजाफा रू केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, सोमवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 354 रहा। इस स्तर की हवा को बेहद खराब श्रेणी में माना जाता है। रविवार को यह 339 था। 24 घंटे के भीतर इसमें 15 अंकों का इजाफा हुआ है, लेकिन अभी भी यह बेहद खराब श्रेणी में बना हुआ है।

 

 

Previous post शारदा अस्पताल में मनाया विश्व रेडियोलॉजी दिवस
Next post Greater Noida: बुखार में डाक्टर के एक इंजेक्शन ने ली युवती की जान