JoshiMath के बाद मसूरी एवं गंगटोक में भी जमीन धसान का खतरा

JoshiMath Sinking. जोशीमठ में जमीन धसान के कारण कई मकानों में दरारें आ गई है। अब जोशीमठ को शिफ्ट करने पर विचार किया जा रहा है। हालात को देखते हुए सभी तरह के निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी गई है. लेकिन, ऐसे में ये देखना भी जरूरी है कि जोशीमठ जैसे हालात और कौन से हिल स्‍टेशनों पर बन रहे हैं. जोशीमठ जैसे हालात Mussoorie में भी बन रहे हैं. यही नहीं, Gangtok में भी पिछले कई साल जमीन लगातार धंस रही है.

इसे भी पढ़ें – India vs Sri Lanka : Virat Kohli की विराट पारी, 4 साल बाद शानदार शतक

सबसे पहले बात करते हैं Mussoorie की. अंग्रेजों ने पानी की सप्‍लाई के लिए मसूरी के ठीक ऊपर गनहिल पर एक जलाशय बनाया. इसे Mussoorie की पानी की टंकी कहा जाता है. अंग्रेजों ने इसे 1902 में बनाना शुरू किया था और 1920 में ये तैयार हो गया था. इसे बने हुए 100 साल से ज्‍यादा हो गए हैं. अब इसमें दरारें पड़ने लगी हैं, लेकिन इन पर कोई ध्‍यान नहीं दे रहा है. पर्यावरण कार्यकर्ता और टेक इनसाइट के संस्‍थापक पंकज भंडारी का कहना है कि ये टंकी कभी भी फट सकती है. इससे मसूरी को बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है.

यहां से शेयर करें
Previous post India vs Sri Lanka : Virat Kohli की विराट पारी, 4 साल बाद शानदार शतक
Next post Auto Expo 2023 का जोरदार तरीके से आगाज, शाहरुख ने लांच की गाड़ियां