1 min read

शव को सड़क पर रख कर लगाया जाम, दारोगा से मारपीट

अलीगढ़ । बीमा एजेंट की हत्या से गुस्साए परिजनों ने शुक्रवार को सड़क पर शव रखकर जाम लगाया। तीन घंटेस तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मामले को संभाला। हंगामा कर रहे लोग पुलिस पर अभियुक्तों से सांठगांठ का आरोप लगा रहे थे। हंगामे के दौरान भीड़ ने इंस्पेक्टर अजय कुमार चाहर को दौड़ाया और मारपीट की। एक सिपाही ने सरकारी पिस्टल से दो हवाई फायर कर इंस्पेक्टर को बचाया।
बाद में पुलिस ने लाठियां पटककर भीड़ को तितर-बितर कर दिया। इधर, मृतक की पत्नी ने खुद पर पेट्रोल उड़ेल कर आत्मदाह की कोशिश की। महिला को बचाने आए एसपी देहात की छीना झपटी में वर्दी पेट्रोल से भीग गई। कार्रवाई के आश्वासन पर परिजन शांत हुए। मामले में पीएनबी के ब्रांच मैनेजर समेत छह पर मुकदमा दर्ज हुआ है।
आप को बताते चलें कि कस्बा निवासी आढ़ती राकेश गुप्ता के बड़े बेटे शरद गुप्ता उर्फ सोनू की गुरुवार देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। परिजनों के मुताबिक कस्बे के ही अरविंद गुप्ता उर्फ ङ्क्षरकू के साथ शरद ने डेढ़ साल पहले गंगीरी में एक बाइक एजेंसी पार्टनरशिप में खोली थी। बाद में उसे बंद कर दिया था। तब से शरद एक बीमा कंपनी में काम करने लगा था। एजेंसी बंद हो जाने के बाद दोनों के बीच कुछ लेन-देन बकाया था। इसको लेकर उनमें विवाद चला आ रहा था। अरविंद गुप्ता ने शरद को देर शाम फोन कर घर बुलाया। एफआईआर के मुताबिक यहां हत्या में नामजद ङ्क्षरकू, इसकी पत्नी सपना, पिता राधेश्याम, बड़े भाई संजू, संतोष और घनिष्ठ मित्र पीएनबी छर्रा ब्रांच के मैनेजर राजन थे। इन लोगों ने शरद पर गोलियां चलाकर हत्या कर दी। शाुक्रवार को पोस्टमार्टम के बाद दोपहर तीन बजे शरद का शव जब अतरौली रोड स्थित घर आया तो परिजन, रिश्तेदार व कस्बे के लोग भड़क गए। सड़क पर शव रखकर जाम लगा दिया। इंस्पेक्टर छर्रा परिजनों को समझाने पहुंचे तो उन्हें दौड़ाकर पीटने लगे।

यहां से शेयर करें

152 thoughts on “शव को सड़क पर रख कर लगाया जाम, दारोगा से मारपीट

Comments are closed.