गुरुग्राम में मासूम सहित चार की हत्या

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

बुराड़ी तर्ज पर हुई वारदात, पुलिस ने शवों को तोड़कर निकाला बाहर

पुलिस के हाथ कातिलों का कोई सुराग नहीं लगा

इस घटना से पूरे गांव में दहशत का माहौल है।

गुरुग्राम। पिछले दिनों हुए बुराड़ी कांड की तर्ज पर गुरुगाम के पटौदी मौहल्ला एक मासूम सहित चार लोगों की हत्या से सनसनी फैल गई है। इस मामले में भी पुलिस समझ नहीं पा रही है। आखिर किसने इस वारदात को अंजाम दिया है और क्यों? पुलिस मामले की छानबीन कर रही है ।
बताया जा रहा है दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम में एक ही परिवार के चार लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी गई। मरने वालों में एक सवा माह की मासूम बच्ची भी शामिल है। अभी कत्ल की वजह साफ नहीं है। अभी तक पुलिस के हाथ कातिलों का कोई सुराग नहीं लगा है। दिल दहला देने वाली कत्ल की इस वारदात से पटौदी इलाके के ब्रजपुर गांव में सनसनी फैली हुई है। पुलिस के मुताबिक कपड़े का कारोबार करने वाला मनीष अपने परिवार के साथ गुरुग्राम के पटौदी मोहल्ले में रहता था। गुरुवार की अल सुबह दूध वाला उनके घर पहुंचा। उसने दरवाजा नॉक किया लेकिन कोई बाहर नहीं आया और ना ही किसी ने दरवाजा खोला। दरवाजे पर काफी देर खड़े रहने के बाद दूध वाले ने मनीष के पड़ोसी से उनके बारे में पूछताछ की। पड़ोसी को कुछ शक हुआ तो उसने भी दरवाजा खटखटाया लेकिन दरवाजा नहीं खुला। लिहाजा पड़ोसी किसी तरह दरवाजा खोलकर जब मनीष के घर में दाखिल हुआ तो सामने मनीष और उसकी मां फूलवती की लाश पड़ी थी। उनके शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे।
वहीं पास में मनीष पत्नी पिंकी की लाश फांसी के फंदे पर झूल रही थी। उसके दोनों हाथों की नसें कटी हुई थी। पूरा कमरा खून से सना हुआ था। पास ही में मनीष की सवा माह की बच्ची बेहोश हालत में पड़ी थी। पड़ोसी और दूधवाले ने गांव के अन्य लोगों को घटना की जानकारी दी। बच्ची को फौरन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर जा पहुंची और सभी शव कब्जे में ले लिए. पुलिस ने पाया कि पूरे परिवार में केवल मनीष का ढाई वर्षीय बेटा ही बचा है। पुलिस को प्राथमिक जांच में लूट की वारदात के कोई सबूत हाथ नहीं लगे हैं. हालांकि पुलिस को मौका-ए-वारदात से एक खून में सना चाकू बरामद हुआ है। पुलिस का मानना है कि कत्ल के लिए इस चाकू का इस्तेमाल किया गया है। पुलिस ने मनीष के घर को सील कर दिया है। अब इस मामले में मनीष के भाई प्रवीण से पूछताछ की जा रही है। पंचनामे की कार्रवाई के बाद सभी शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए गए हैं। इस घटना से पूरे गांव में दहशत का माहौल है।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment