Wipro Q3 Results: तीसरी तिमाही में विप्रो को ₹3,053 करोड़ का मुनाफा

नई दिल्ली. आए दिन देश में अर्थव्यवस्था के उतार-चढ़ाव की खबरें आती रहती हैं. इसी बीच आईटी सेक्टर की दिग्गज कंपनी विप्रो ने अपने प्रॉफिट के बारे में बता कर चौंका दिया है. विप्रो ने शुक्रवार को अपने तीसरी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं. कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में सालाना आधार पर 2.8 फीसदी बढ़कर 3,053 करोड़ रुपये रहा. एक साल पहले इसी अवधि में यह आंकड़ा 2,969 करोड़ रुपये था.

बेंगलुरु की आईटी कंपनी ने शुक्रवार को बयान में कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 की तीसरी तिमाही में उसका रेवेन्यू 23,229 करोड़ रुपये था, जो सालाना आधार पर 14.3 फीसदी अधिक है.

यह भी पढ़ें – HAJJ से खत्म हो सकता है वीआईपी कोटा, सरकार ने दिये संकेत

वित्त वर्ष 2023 की तीसरी तिमाही के लिए नतीजों का ऐलान करते समय मुनाफा और आय में बढ़ोत्तरी होने के चलते विप्रो ने 1 रुपये प्रति शेयर अंतरिम डिविडेंड का ऐलान भी किया.

यह भी पढ़ें – Covid-19 Case : भारत ने संभाला हाल-कोरोना से चीन बेहाल

एट्रीशन रेट घटा और डॉलर आय बढ़ी
तिमाही आधार पर कंपनी की डॉलर आय में इजाफा देखने को मिला. कंपनी की डॉलर आय बढ़कर $280.3 करोड़ रही जबकि दूसरी तिमाही में कंपनी की डॉलर आय $279.7 करोड़ रही थी. तीसरी तिमाही के दौरान एट्रीशन रेट के मोर्चे पर भी कंपनी को राहत मिली. तीसरी तिमाही में कंपनी का एट्रीशन रेट घटकर 21.2 फीसदी रहा जबकि पिछली तिमाही में कंपनी का एट्रीशन रेट 23 फीसदी रहा था.

विप्रो के सीईओ और एमडी थिएरी डेलापोर्ट ने कहा कि उसके पास डील्स की कुल बुकिंग 4.3 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक थी, जिसमें एक अरब डॉलर से अधिक के ठोस बड़े डील्स शामिल थे. उन्होंने कहा कि कंपनी ग्राहक संबंधों को मजबूत करके और उच्च सफलता दर के चलते लगातार बाजार हिस्सेदारी हासिल कर रही है.

यहां से शेयर करें
Previous post नहीं रहे ‘‘पान सिंह तोमर’’ के WRITER SANJAY CHAUHAN
Next post Noida news: न्यूड वीडियों दिखाकर रि. अफसर से लाखों ठगे