अडानी ग्रुप की इस कंपनी ने बनाया नया रिकॉर्ड, शेयरों में जबरदस्त तेजी, निवेशकों को छप्परफाड़ रिटर्न

एक साल में यह शेयर 434.09% चढ़ा है। बता दें कि पिछले एक महीने में अडानी पावर के शेयर की कीमत में एनटीपीसी के बाजार प्राइस में 6 प्रतिशत की वृद्धि की तुलना में 41 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

गौतम अडानी (Gautam Adani) की  कंपनी अडानी पावर के शेयरों (Adani Power Stock) में आज शुक्रवार को जबरदस्त तेजी है। कंपनी के शेयर 11.36 बजे एनएसई पर 3.28% की तेजी के साथ 412.55 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। शेयर की कीमत में तेज रैली के बाद अडानी पावर ने मार्केट-कैप के मामले में राज्य के स्वामित्व वाली इलेक्ट्रिक यूटिलिटीज कंपनी एनटीपीसी (NTPC) को पीछे छोड़ दिया।

160,4291 करोड़ रुपये का हुआ मार्केट कैप
बीएसई के आंकड़ों से पता चलता है कि सुबह 09:38 बजे अडानी पावर 160,4291 करोड़ रुपये के मार्केट कैप के साथ 35वें स्थान पर रही, जबकि एनटीपीसी 154,710 करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण के साथ 37वें स्थान पर रही। अडानी पावर ने ऑटोमोबाइल कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा (एमएंडएम) को भी पीछे छोड़ दिया, जिसका एम-कैप 156,394 करोड़ रुपये है।

इस साल 308.34% का रिटर्न
बता दें कि पिछले एक महीने में अडानी पावर के शेयर की कीमत में एनटीपीसी के बाजार प्राइस में 6 प्रतिशत की वृद्धि की तुलना में 41 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस बीच बेंचमार्क एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 10 फीसदी चढ़ा।  इस प्रकार अब तक कैलेंडर वर्ष 2022 (CY22) में, अडानी पावर ने एनटीपीसी के मुकाबले 308.34% का रिटर्न दिया है। एक साल में यह शेयर 434.09% चढ़ा है। बता दें कि अडानी पावर ने जून तिमाही (Q1FY23) में कर (पीएटी) के बाद अपने समेकित लाभ में 17 गुना उछाल 4,780 करोड़ रुपये दर्ज किया। 

क्या हैं आंकड़ें?
31 जुलाई तक इस फंड का असेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 24,694 करोड़ रुपये है। इस कैटेगरी में कुल एयूएम का 30 फीसदी हिस्सा इसी फंड हाउस के पास है। इससे पता चलता है कि निवेशकों का इस पर भरपूर विश्वास है। यह स्कीम वैल्यू निवेश के तरीकों का पालन करता है। यह विविधीकृत पोर्टफोलियो के स्टॉक में निवेश करता है जो आकर्षक मूल्यांकन पर होते हैं लेकिन एक डिस्काउंट पर होते हैं।  

 16 अगस्त, 2004 को हुआ था लाॅन्च
16 अगस्त, 2004 को इस फंड की शुरुआत की गई थी। इसने सालाना 19.7 फीसदी सीएजीआर की दर से रिटर्न दिया है। अगर वही 10 लाख रुपये निफ्टी 50 में निवेश किया गया होता तो उसका रिटर्न इस फंड से कम 15.6 फीसदी सीएजीआर की दर से होता और रकम केवल 1.3 करोड़ रुपये होती। आईप्रू के वैल्यू डिस्कवरी फंड ने एसआईपी के निवेश में भी अच्छा रिटर्न दिया है। अगर किसी ने स्थापना के समय से हर महीने 10 हजार रुपये का एसआईपी किया होगा तो वह रकम अब 1.2 करो़ड़ रुपये हो गई होगी जबकि उसने इस दौरान कुल केवल 21.6 लाख रुपये ही निवेश किया है। यानी सालाना 17.3 फीसदी सीएजीआर की दर से इसका रिटर्न रहा है। 7 साल के एसआईपी का रिटर्न 15.81 फीसदी, 5 साल के एसआईपी का रिटर्न 18.97 और 3 साल के एसआईपी का रिटर्न 27.59 फीसदी रहा है।  

Previous post उकसाने से बाज नहीं आ रहा ड्रैगन, ताइवान की सीमा में फिर घुसे 51 चीनी युद्धक विमान
Next post एससीओ में भारत का डंका: ये संगठन कितना ताकतवर है?