हाथ पैर में 24 अंगुलियां, बनी जान की दुश्मन

खजाना पाने को रिश्तेदार किशोर की चढ़ाना चाहते हैं बलि

बाराबंकी। गांव के एक किशोर के हाथ और पैर में 12-12 उंगलियां हैं। जो अब उसके जीवन की काल बनी हुई हैं। गांव के ही कुछ लोग धन प्राप्ति के लिए उसकी बलि देना चाहते हैं। दो वर्ष पूर्व भी किशोर का अपहरण कर उसकी बलि देने की कोशिश की गई थी। तब पुलिस ने किशोर के परिवार वालों की शिकायत पर आरोपी को जेल भेजा था। जो अब छूटकर आ चुका है। आरोपी अब फिर उस किशोर की बलि देने की फिराक में हैं। जिसके चलते किशोर व परिजन डर-डर को जिंदगी गुजारने को मजबूर हैं। वहीं, डर से पिता ने बेटे को स्कूल जाने से भी रोक दिया है।

जानकारी के मुताबिक रामनगर थाना क्षेत्र के ग्राम गर्री निवासी पुन्नी लाल के नाबालिग पुत्र शिवनंदन को 16 जून 2016 को बदोसराय कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मरकामऊ निवासी उनका दामाद भागीरथ बहला फुसलाकर अपहरण कर ले गया था। बदोसराय कोतवाली के मदारपुर गाव में शिवनंदन की बलि की तैयारी की गई थी। इसमें भागीरथ के साथ उसके पिता रामसागर और हंसराज सहित कुल नौ लोग शामिल थे। सारी तैयारियों के बाद मुहुर्त निकल जाने की बात कह उसे छोड़ दिया गया था।

वापस घर पहुंचे शिवनंदन ने घटनाक्रम बताया तो पिता ने आरोपितों पर मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें कुछ लोगों को जेल भेजा गया था। दो साल बाद जब यह लोग जेल से छूटकर आए तो एक बार फिर शिवनंदन के अपहरण की कोशिश की। 30 जुलाई की रात शिवनंदन को उसके घर से सोते समय अपहरण की कोशिश हुई। इस पर पिता ने फिर भागीरथ और उसके भाई भगोले पर मुकदमा दर्ज कराया है।

पेशे से राजगीर खुन्नीलाल का कहना है कि उसके पुत्र को धन की लालच में विपक्षित बलि दे सकते हैं। वह लगातार पुलिस से गुहार लगा रहा है और पुलिस सुनवाई नहीं कर रही है। दरअसल, शिवनंदन के हाथ और पैर दोनों के पंजों में पाच की जगह छह-छह ऊंगलिया हैं। परिवारीजन का कहना है कि इसलिए आरोपित धन प्राप्ति के लिए उसकी बलि देना चाहते हैं। मानना है कि 24 ऊंगली वालों की बलि से धन प्राप्ति होती है।

पिता ने पुलिस की दी शिकायत में बताया है कि बेटे के हाथ और पैर में 12-12 उंगलिया हैं। दावा किया है कि उनके रिश्तेदार बेटे को मारना चाहते हैं क्योंकि एक तात्रिक ने उनसे कहा है कि अगर वह इस तरह के बच्चे को मारते हैं तो वह धनवान बन जाएंगे। इस डर से बेटे को स्कूल जाने से भी रोक दिया है।
एसपी वीपी श्रीवास्तव ने बताया कि यह प्रकरण गंभीर है और इसके लिए सीओ रामनगर को निर्देशित किया गया है। बच्चे कि सुरक्षा और विपक्षियों पर कार्रवाई दोनों सुनिश्चित होगी।

यहां से शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post यूपी के कई जिलों में बाढ़ का कहर, पांच सौ गावों में पहुंचा पानी, अबतक 14 लोगों की मौत, सेना तैना
Next post ग्यारहवीं के छात्र की गोली मारकर हत्या