शहीद होने वालों को मिले शहादत का दर्जा

नई दिल्ली। शहीद भगत सिंह सोशल वेलफेयर सोसायटी की ओर से देश के सबसे गुस्सैल आदमी व नेशनल अकाली दल के प्रधान परमजीत सिंह पम्मा वा सोसायटी के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह अष्ट की अध्यक्षता में पाकिस्तानी आतंकवाद के खिलाफ रोष प्रदर्शन साथ चंद्रशेखर आजाद , भगत सिंह ,राजगुरु , सुखदेव ,को शहीद का दर्जा व शहीद भगत सिंह को राष्ट्रीय पुत्र घोषित करने की मांग को लेकर जंतर मंतर से लेकर पार्लिमेंट स्ट्रीट तक एक मार्च निकाला।

इस अवसर पर परमजीत सिंह पम्मा ने कहा कि सरकार को चाहिए कि वह पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे जिस प्रकार वह हमारे देश के जवानों को शहीद किए जा रहा है अब समय आ गया है कि एक के बदले 10 सिर लाने का सरकार को चाहिए कुछ कदम उठाकर पाकिस्तान को उसी की जुबान पर जवाब दें।
परमजीत सिंह पम्मा व इंद्रजीत सिंह अष्ट ने का बड़े शर्म की बात है 72 साल आजादी के होने के बावजूद भी जो आजादी दिलाने के नायक हैं उन को शहीद का दर्जा नहीं दिया गया।

श्री पम्मा ने कहा शहीद भगत सिंह युवाओं के एक आदर्श हैं जिन्होंने अपनी जान की परवाह न करके इस देश की आजादी के लिए खुद फांसी पर चढ़ गए 27 सितंबर को उनका जन्म दिवस है इस अवसर पर सरकार को यह घोषणा करनी चाहिए।

इस अवसर पर परमजीत सिंह पम्मा व इंद्रजीत सिंह अष्ट ने कहा कि कोई भी नेता चाहे वह निगम पार्षद हो विधायक हो या और भी किसी संस्था से हो उसको दूसरी राज्य पर जाने पर सरकारी तौर पर कई सुविधाएं दी जाती है मगर शहीद के परिवार को किसी प्रकार की भी कोई सुविधा नहीं दी जाती

इस अवसर पर पल्विंदर सिंह सभरवाल , बिंदिया मल्होत्रा, जसविंदर सिंह सभरवाल, ईश्वर सिंह पनेसर ,संजीव कुमार कबीर इस मांग को लेकर जंतर-मंतर पर पुरुषों के साथ महिलाएं वह काफी संख्या में बच्चे भी एकत्रित हुए इंकलाब जिंदाबाद , चंद्रशेखर आजाद , भगत सिंह ,राजगुरु सुखदेव ,को शहीद का दर्जा दो , शहीद भगत सिंह को राष्ट्रीय पुत्र घोषित करो जैसे नारे लगा कर आगे बढ़ रहे थे।

यहां से शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post बुलंदशहर में हाईवे पर खड़े ट्रक में घुसी रोडवेज, दो लोगों की मौत
Next post नई दिशाएं बच्चों को सिखा रही है जीने के हुनर