rahul-narvekar-jayant-pati

विधानसभा अध्यक्ष पर अभद्र भाषा के प्रयोग का आरोप, जयंत पाटिल को निलंबित करने की मांग

 DISHA SALIAN:चंचल [नोएडा ] गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा दिशा सालियान की संदिग्ध मौत मामले की एसआईटी जांच कराने की बात कहने पर सदन में हंगामा हो गया।राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष और विधानसभा विधायक जयंत पाटिल को निलंबित करने की मांग की जा रही है| अधिकारियों ने जयंत पाटिल को एक साल के लिए निलंबित करने की मांग की है। जयंत पाताल पर विधानसभा अध्यक्ष के बारे में बात करते हुए असंवैधानिक शब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया जा रहा है| इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की मौजूदगी में अध्यक्ष राहुल नार्वेकर के हॉल में बैठक चल रही है.नागपुर में विधानमंडल के शीतकालीन सत्र का चौथा दिन चल रहा है| इस समय, उपमुख्यमंत्री और गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व प्रबंधक दिशा सलियन की संदिग्ध मौत मामले में एसआईटी जांच की जाएगी। विपक्षी दल के विधायक यह कहते हुए सदन के पटल पर आ गए कि विपक्ष को बोलने नहीं दिया जा रहा है। उस वक्त जयंत पाटिल ने विधानसभा अध्यक्ष से कहा था कि ‘आपको इतना बेशर्म नहीं होना चाहिए|

सत्ताधारियों ने आरोप लगाया कि जयंत पाटिल ने जिस शब्द का इस्तेमाल किया है, वह विधानसभा अध्यक्ष को निशाना बनाकर किया गया था। इसके बाद सदन की कार्यवाही कुछ देर के लिए स्थगित कर दी गई। सत्ताधारी दलों ने जयंत पाटिल को एक साल के लिए निलंबित करने की मांग की है। इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की मौजूदगी में विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर के सभागार में बैठक चल रही है| अब जयंत पाताल पर क्या कार्रवाई होगी, क्या उन्हें निलंबित किया जाएगा या सिर्फ समझाइश दी जाएगी, इस पर राजनीतिक हलकों का ध्यान है.दिशा सालियान मौत मामले में कई तरह के संदेह खड़े किए गए हैं। सदन में मांग की गई कि एसआईटी के जरिए जांच कराई जाए। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि इस पर सबूत दीजिए, एसआईटी के जरिए जांच की जाएगी.रामायण, सीबीआई ने खुलासा किया था। दिशा 14वीं मंजिल से गिरकर छत से गिरी, इसे एक्सीडेंटल डेथ बताया गया। चूंकि वह जीवित नहीं है, इसलिए उसे बदनाम करने का सवाल ही नहीं उठता। दिशा के माता-पिता ने कहा कि हम राजनीति के कारण पीड़ित हैं। हमें जीने दो, राजनीतिक नेता हमारी बेटी को बदनाम कर रहे हैं, दिशा के माता-पिता ने पूछा। नेता प्रतिपक्ष अजीत पवार ने कहा कि दिशा के परिवार ने कहा कि अगर हम जीवा के साथ अच्छा या बुरा करेंगे तो बदनाम करने वाले नेताओं को जिम्मेदार ठहराया जाएगा| दिशा सालियान केस कभी सीबीआई के पास नहीं गया। किसी को टारगेट नहीं किया जाएगा। फडणवीस ने भरोसा दिलाया कि अगर कोई नया सबूत मिलता है तो जांच होगी|

अजित पवार ने पूजा चव्हाण मौत मामले की भी जांच की मांग की. पूजा चव्हाण मामले की भी जांच की मांग को लेकर सदन में हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई|

यहां से शेयर करें
iphone-14- Previous post iphone:आईफोन 14 पर पहली बार डिस्काउंट, एक्सचेंज ऑफर के साथ 7 हजार का डिस्काउंट भी शानदार है
anil-ambani Next post Anil Ambani:फोर्ब्स के अमीरों की सूची से ‘दिवालियापन’ तक, छोटे अंबानी भाई के पतन का यही सफर है