1 min read

पीसी गुप्ता से राज नहीं उगलवा पाई पुलिस नबर-2 की कमाई को 1 नंबर में किया

नोएडा। अवैध धन को वैध करने का तरीका सीखना हो तो कोई भी पीसी गुप्ता से सीख सकता है। क्योंकि किसानों से नकद में जमीन खरीदकर प्राधिकरण से नंबर-1 में मुआवजा लिया।
इस मामले में पुलिस भी पीसी गुप्ता से कोई खास राज नहीं उगवा नहीं पाई है। मथुरा के सात गांवों में पुलिस ने प्राधिकरण से मिले नक्शे की मदद से जमीनों का भौतिक सत्यापन कराया। इस दौरान पुलिस ने पीसी गुप्ता से खरीदी गई जमीनों के बारे में पहचान करवाई लेकिन वह जमीनों के बारे में कुछ भी नहीं बता पाया।.
पुलिस 126 करोड़ रुपये के जमीन आवंटन घोटाले के आरोपी सेवानिवृत्त आईएएस पीसी गुप्ता को 23 जून को मेरठ न्यायालय से 10 दिन की रिमांड पर ग्रेटर नोएडा लाई थी। इस दौरान आरोपी से एसएसपी समेत कई पुलिस अधिकारियों ने पूछताछ कर घोटाले से जुड़े कई अहम जानकारियां इक_ा की हैं। यमुना प्राधिकरण से जमीन का नक्शा मिलने के बाद गुरुवार को पुलिस पीसी गुप्ता को जमीनों का भौतिक सत्यापन कराने के लिए साथ लेकर मथुरा जाने वाली थी लेकिन बीच रास्ते में आरोपी की तबीयत खराब होने के कारण पुलिस आरोपी को वापस लेकर आ गई थी। कासना पुलिस दोबारा पीसी गुप्ता को लेकर मथुरा गई और वहां के सात गांवों में जाकर नक्शे के अनुसार जमीन का भौतिक सत्यापन करवाया। इस दौरान अधिकांश जमीनों के बारे में पीसी गुप्ता पुलिस को जानकारी नहीं दे सका। देर रात पुलिस आरोपी को लेकर वापस आ गई।
जमीन घोटाले में पीसी गुप्ता के करीबियों ने किसानों से नकद राशि देकर जमीन खरीदी थी। इसके लिए उन्होंने काले धन को खपाया जबकि खुद उन्होंने जब प्राधिकरण से मुआवजा उठाया तो छोटे-छोटे टुकड़ों में चेक लिए।
घोटाले में पीसी गुप्ता ने काले धन को खपाने का भी पैतरा अजमाया जिसके चलते किसानों को नकद भुगतान कर काले धन को ठिकाने लगा दिया।

जिसके बाद प्राधिकरण से मुआवजा उठाया तो 30-30 लाख के चेक लिए गए जिन्हें बैंक में जमा करवाया गया ताकि वह आयकर विभाग की नजर में न आए। दरअसल पूर्व सीईओ ने लोगों को बताया था कि 30 लाख से अधिक की संपत्ति के लेन-देन का ब्योरा आयकर विभाग को जाता है। प्राधिकरण किसी को मुआवजा देता है तो उसका एकमुश्त भुगतान करता है लेकिन ऐसा नहीं किया गया। .

पूछताछ में एसएसपी को भी कुछ नहीं बताया रि. आईएएस पीसी ने

यहां से शेयर करें

46 thoughts on “पीसी गुप्ता से राज नहीं उगलवा पाई पुलिस नबर-2 की कमाई को 1 नंबर में किया

Comments are closed.