केंद्र की मोदी सरकार को एक और झटका, अब एडीबी ने जीडीपी ग्रोथ अनुमान घटाया

नई दिल्ली। एशियाई विकास बैंक ने कहा है कि वित्त वर्ष 2019-20 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद में बढ़त 5.1 फीसदी ही हो सकती है। इसके पहले एडीबी ने सितंबर महीने में जीडीपी बढ़त 6.5 फीसदी रहने का अनुमान जारी किया था। नौकरियों की रफ्तार घटने से जीडीपी को झटका। एशियाई विकास बैंक ने इस वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था के वृद्धि दर अनुमान में भारी कटौती की है। वित्त वर्ष 2019-20 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद में बढ़त 5.1 फीसदी ही हो सकती है। इसके पहले एडीबी ने जीडीपी बढ़त 6.5 फीसदी रहने का सितंबर महीने में अनुमान जारी किया था। एडीबी ने कहा कि नौकरियों के सृजन की सुस्त रफ्तार और खराब फसल की वजह से ग्रामीण इलाकों की हालत खराब होने की वजह से उसे अपने अनुमान में कटौती करनी पड़ी है। मामले की ओर संकेत करते हुए एडीबी ने यह भी कहा कि साल 2018 में एक बड़ी गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी के बर्बाद होने से वित्तीय क्षेत्र में जोखिम बढ़ा है और कर्ज संकट खड़ा हुआ है। एडीबी ने कहा, वित्त वर्ष 2019-20 में भारत का ग्रोथ रेट सुस्त होकर 5.2 फीसदी रह सकता है। एक बड़े गैर बैकिंग वित्तीय कंपनी में संकट की वजह से वित्तीय सेक्टर में जोखिम बढ़ा है और कर्ज संकट खड़ा हुआ है। इसके अलावा नौकरियों के सृजन की रफ्तार सुस्त पडऩे और खराब फसल की वजह से ग्रामीण क्षेत्र में संकट बढऩे से खपत प्रभावित हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Previous post 2002 दंगों में मोदी को गुजरात सरकार से क्लीनचिट
Next post पूर्वोत्तर में हिंसक प्रदर्शन, कई उड़ानें रद्द