सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

कश्मीर में हलचल
नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले की एडवाइजरी के बीच राज्य के नेताओं ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात की है। कश्मीरी नेताओं की चिंता पर राज्यपाल ने कहा है कि अफवाहों पर ध्यान न दें और शांति बनाए रखें। राज्यपाल ने कहा कि अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले की पुख्ता सूचना मिलने के बाद ही ये अलर्ट जारी किया गया है।
डल झील में सन्नाटा
जम्मू-कश्मीर में क्या होने वाला है? इन अटकलों के बीच राज्य के प्रसिद्ध टूरिस्ट स्थल डल झील पर सन्नाटा पसरा हुआ है। डल झील की सैर कराने वाले शिकारों में सन्नाटा पसरा हुआ है। डल झील में जहां अन्य दिनों में सैलानियों की भीड़ देखने को मिलती थी, अभी वहां एक भी टूरिस्ट नजर नहीं आ रहा है।

जम्मू में बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक : जम्मू-कश्मीर में सियासी हलचल के बीच जम्मू में बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक चल रही है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रविंदर रैना ने कहा कि है 15 अगस्त को जम्मू कश्मीर और लदाख में हर जगह फहराया जाएगा तिरंगा। उन्होंने कहा कि अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आतंकी खतरे का अलर्ट मिलने के बाद उन्हें वापस भेजा गया। पाकिस्तान और आतंकवादियों की साजिश को किसी भी हालत में सफल नहीं होने दिया जाएगा।

कश्मीर में हालात सामान्य
कश्मीर में कल के मुकाबले आज हालात सामान्य हो रहे हैं. स्कूल-कॉलेज खुले हुए हैं. शुक्रवार देर रात सियासी हलचल के बाद आज सुबह श्रीनगर में हालात सामान्य नजर आ रहे हैं. पेट्रोल पंपों पर सामान्य भीड़ है और एटीएम पर भी शुक्रवार की तरह अफरा-तफरी का माहौल नहीं है. रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में इंटरनेट सेवा भी सामान्य रूप से चल रही है.

ञ्ज2द्बह्लह्लद्गह्म् स्नड्डष्द्गड्ढशशद्म

जवानों की छुट्टियों पर रोक
जम्मू-कश्मीर में मौजूदा हालात के बीच सूत्रों से मिल रही खबर के मुताबिक ष्टक्रक्कस्न जवानों की छुट्टियों पर रोक लगा दी गई है. इंडिया टुडे को मिली जानकारी के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में तैनात ष्टक्रक्कस्न जवानों की छुट्टियों पर रोक लगा दी गई है. यही नहीं जरूरत पडऩे पर पहले सैंक्शन छुट्टियां भी रद्द हो सकती है.

ञ्ज2द्बह्लह्लद्गह्म् स्नड्डष्द्गड्ढशशद्म

पहले अमरनाथ यात्रा पर ब्रेक
बड़े आतंकी खतरे को भांपते हुए जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर एक एडवाइजरी जारी की गई थी. इसमें लिखा था, “आतंकी खतरे, खास तौर पर अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने के खतरे पर खुफिया विभाग के ताजा इनपुट और कश्मीर घाटी के सुरक्षा हालात को ध्यान में रखते हुए अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों के हित में ये सलाह दी जाती है कि वो तुरंत घाटी में अपने ठहराव को छोटा करें और जितना जल्द हो सके वापस लौटने की कोशिश करें.” बता दें कि 15 अगस्त तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा को खराब मौसम की वजह से पहले ही 4 अगस्त तक कर दी गई थी. था…लेकिन अब सरकार की एडवाइजरी और आतंकी हमलों की आशंका को देखते हुए अमरनाथ यात्रा वक्त से पहले ही रोक दी गई है.


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें