22 लाख मतदाता तय करेंगे गौतमबुद्ध नगर सांसद

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

नोएडा। लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। पहले चरण में गौतमबुद्ध नगर में चुनाव होने हैं। इसके लिए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है। आज जिलाधिकारी बीएन सिंह ने सेक्टर-27 स्थित अपने कैंप कार्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।
जिलाधिकारी ले बताया कि गौतमबुद्ध नगर लोकसभा क्षेत्र में करीब 22 लाख मतदाता हैं। जिसमें 14 लाख 88 हजार 925 मतदाता गौतमबुद्ध नगर जिले में जबकि अन्य मतदाता खुर्जा तथा सिकंदराबाद क्षेत्र में हैं। गौतमबुद्ध नगर में चुनाव की व्यवस्था हम लोग करेंगे जब कि सिकंदराबाद और खुर्जा कि बुलंदशहर जिला प्रशासन द्वारा की जाएगी।
जिलाधिकारी ने बताया कि चुनाव शांतिपूर्ण, निष्पक्ष और पारदर्शी कराने के लिए 20 जोनल व 112 सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किए जाएंगे। मतदान केंद्रों पर वेब कास्टिंग, वीडियो और माइक्रो ऑब्जर्वर के साथ-साथ सीपीएमएफ तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा आवश्यकतानुसार पुलिस फोर्स अलग-अलग बूथ की संवेदनशीलता को देखते हुए तैनात होगा। उन्होंने कहा कि एक लाख 34 हजार 788 नए मतदाता इस बार जुड़े हैं। इन मतदाताओं के मतदाता फोटो पहचान पत्र 1 सप्ताह के अंदर बीएलओ के माध्यम से उनके पास पहुंच जाएंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि मतदाता पहचान पत्र लाने के लिए जिला प्रशासन अपनी टीम को चेन्नई भेज रहा है। जहां पर मतदाता पहचान पत्र प्रिंटिंग का काम चल रहा है।

धन, शराब और बल का नहीं होने देंगे प्रयोग :

डीएमजिलाधिकारी बीएन सिंह ने बताया कि चुनाव में धन, शराब और बल का प्रयोग न हो इसके लिए विशेष व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि पैसे के दुरुपयोग को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने बैंक प्रबंधकों के साथ बैठक की है। यदि कोई व्यक्ति एक लिमिट से अधिक रूपए निकालेगा तो उसकी सूचना जिला प्रशासन को मिल जाएगी। एमसीएमसी के प्रभारी एवं एडीएम एलए बलराम सिंह ने बताया कि अवैध रूप से शराब पर रोक लगाने के लिए तथा धन का दुरुपयोग रोकने को 33 टीमों का गठन किया गया है। जिसमें नोएडा में 9, दादरी में 9 तथा 15 टीम जेवर में लगाई गई है। उन्होंने बताया कि आचार संहिता लगते ही 24 घंटे के अंदर सार्वजनिक स्थलों, 48 तथा 72 घंटों के अंदर निजी स्थानों से होर्डिंग पोस्टर हटाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि चुनाव के दौरान कोई भी व्यक्ति सरकारी गाडिय़ों का गलत इस्तेमाल ना करें इसके लिए भी पूरी निगरानी रखी जाएगी।10 लाख से अधिक कैश पकड़ा तो आयकर विभाग को मामला सौंपेगा जिला प्रशासनचुनाव के दौरान रुपए बांटने की शिकायतों पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से विशेष व्यवस्था की गई है। जिलाधिकारी बीएन सिंह ने बताया कि पुलिस और प्रशासन की सूचना मिलने पर चेकिंग कर सकता है। उन्होंने बताया कि यदि किसी व्यक्ति पर 10 लाख से अधिक कैश मिलता है तो इस मामले में तुरंत आयकर विभाग को सूचना दी जाएगी। आयकर विभाग ही पूरी जानकारी करने के बाद फिर उसे छोड़ेगा। उसकी कार्रवाई के लिए पूरी छूट होगी। उन्होंने बताया कि यदि कोई व्यक्ति अपने किसी निजी काम के लिए निकासी करता है तो उसके पास बैलेंस शीट होनी चाहिए और उसे बताना होगा कि यह रुपया क्यों निकाला है वहीं बलराम सिंह ने बताया कि यदि किसी प्रत्याशी को अखबार में विज्ञापन छपवान है तो उससे पहले एमसीएमसी से अनुमति लेनी होगी। ठीक ऐसे ही इलेक्ट्रॉनिक चैनलों पर विज्ञापन दिखाने के लिए भी अनुमति की आवश्यकता है। यदि कोई व्यक्ति बिना अनुमति के विज्ञापन का प्रचार प्रसार करेगा तो उसके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

मतदान के बाद ईवीएम पर नजर


रख सकेंगे उम्मीदवार चुनाव के लिए डिस्ट्रिक्ट ऑफिसर एमएन उपाध्याय ने बताया कि चुनाव पूरी तरह पारदर्शी रहे इसके लिए विशेष व्यवस्था की गई है। फूल मंडी में स्ट्रांग रूम बनाया जाएगा। मतदान के बाद सभी ईवीएम यहां पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रखी जाएंगी। उन्होंने बताया कि राजनीतिक पार्टियों के उम्मीदवारों को किसी प्रकार का पारदर्शिता पर शक न हो इसके लिए उनके आदमियों के यहां बैठने और रहने की भी व्यवस्था की गई है ताकि यहां रह कर वह देख सके कि ईवीएम के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं हो रही है। उन्होंने बताया कि मतदान करने के लिए दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा फार्म 26 में बदलाव किए गए हैं।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment