पंचतत्व में विलीन हुए अटल, मंत्रोचार के बीच अटल बिहारी वाजपेयी को दी गई मुखाग्नि

तीनों सेनाओं की एक संयुक्त टुकड़ी उनके पार्थिव शरीर को लेकर निकली। अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में लोग अटल बिहारी अमर रहे की नारा लगाते हुए चल रहे थे। अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा स्मृति स्थल पहुंच गई। जहां उन्हें उनकी बेटी ने मुखाग्नि दी। नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर स्मृति स्थल पर लाया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कैबिनेट के मंत्री, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह समेत बड़ी संख्या में लोग वाजपेयी की अंतिम यात्रा में साथ-साथ चले। स्मृति स्थल…

और पढ़ें >>

अटलजी की अंतिम यात्रा, पैदल चल रहे मोदी-शाह, श्रद्धांजलि देने पहुंची हजारों की भीड़

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, शिवराज सिंह चौहान समेत वरिष्ठ भाजपा नेता अंतिम यात्रा में साथ-साथ चल रहे हैं। मुख्यालय से स्मृति स्थल तक के 5 किलोमीटर लंबे मार्ग पर लाखों लोग अटलजी को अंतिम विदाई देने के लिए खड़े हैं। शाम 4 बजे स्मृति स्थल पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। नई दिल्ली। तीन बार प्रधानमंत्री रहे भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा भाजपा मुख्यालय से शुरू हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, शिवराज…

और पढ़ें >>

…और जब भावुक हो गए मोदी, अटल जी.. मेरी आंखों के सामने हैं, स्थिर हैं

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद पूरा देश शोकाकुल है। गुरुवार शाम अटल के निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने गुरू को श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी ने अटल को याद करते हुए एक भावुक ब्लॉग भी लिखा है। प्रधानमंत्री ने लिखा अटल जी अब नहीं रहे। मन नहीं मानता। अटल जी, मेरी आंखों के सामने हैं, स्थिर हैं। जो हाथ मेरी पीठ पर धौल जमाते थे, जो स्नेह से, मुस्कराते हुए मुझे अंकवार में भर लेते थे, वे स्थिर हैं। अटल जी की…

और पढ़ें >>

अंतिम दर्शन के लिए भाजपा मुख्यालय में रखा गया अटल का पार्थिव शरीर, चार बजे होगा अंतिम संस्कार

वाजपेयी के शव को अंतिम दर्शन के लिए भाजपा मुख्यालय में रखा जाएगा। जहां नेताओं से लेकर आम जन भी उनको श्रद्धांजलि देने पहुंच रहे हैं। उसके बाद दोपहर एक बजे उनकी अंतिम यात्रा निकाली जाएगी। नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन अटल व्यक्तित्व वाले वाजपेयी हमेशा देशवासियों की यादों में अमर हो गए हैं। लंबे समय तक मौत से जंग लड़ते रहे वाजपेयी का गुरुवार शाम 5.05 बजे दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। उनकी मौत की खबर से न…

और पढ़ें >>

तिरंगे में लपेटा गया अटल का शव, मिलेगी बंदूकों की सलामी

93 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री अटल के निधन के बाद उन्हें शुक्रवार को राजकीय  सम्मान के साथ विदा किया जाएगा। अंतिम संस्कार से पहले वाजपेयी का पार्थिव शरीर तिरंगे में लपेटा गया है। नई दिल्ली। भारत रत्न से सम्मानित भारत के तीन बार रहे प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस गुरुवार को दुनिया से अलविदा कह दिया है। उन्होंने दिल्ली के एम्स अस्पताल में गुरुवार शाम अंतिम 5.5 बजे अंतिम सांस ली। 93 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री अटल के निधन के बाद उन्हें शुक्रवार को राजकीय  सम्मान के साथ विदा किया जाएगा।…

और पढ़ें >>

अटलजी को विरासत में मिली कविता की कला

अटलजी को विरासत में मिली कविता की कला नई दिल्ली अटल बिहारी वाजपेयी को कविता की कला उनके पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी से विरासत में मिली थी। कृष्ण बिहारी वाजपेयी भी कवि थे। उनकी कविताओं में राष्ट्र या राजनीति के स्तर पर उपजे हालात का जिक्र होता था या कभी नाराजगी, हौसला और खुशी झलकती थी। पेश हैं अटल जी कविताओं के कुछ अंश  मौत से ठन गई! ठन गई! मौत से ठन गई! जूझने का मेरा इरादा न था, मोड़ पर मिलेंगे इसका वादा न था, रास्ता रोक कर…

और पढ़ें >>