सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने दिलाई एकता की शपथ

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

लखनऊ । सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती पर आज रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम के तहत राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने झंडी दिखाकर दौड़ आरंभ कराई और राष्ट्र की एकता की शपथ दिलाई। इस अवसर पर सीएम योगी आदित्य नाथ ने कहा कि सरदार जी आज ही नहीं सदियों सदियों तक याद किए जाएंगे। देश में कई रियासतें थी जो भारत में शामिल होने को तैयार नहीं थीं लेकिन पटेल के सामने उनकी नहीं चली। वह चाहे वह हैदराबाद का निजाम रहा हो, चाहे जूनागढ़ का नवाब। जरा सोचिए भारत की अन्य रियासतें इसी मार्ग पर चलती तो भारत की अखंडता कैसी होती।
सरदार वल्लभ भाई पटेल जन्म दिवस पर बुधवार को राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया गया। सीएम योगी ने कहा कि हम अंबेडकर को संविधान का शिल्पी मानते हैं तो सरकार पटेल भारत के गणराज्य का शिल्पी कहा जाना चाहिए। इस अवसर पर विधानसभा के सामने से मार्च-पास्ट व रन फार यूनिटी का कार्यक्रम रखा गया। कार्यक्रम में मुख्यसचिव, प्रमुख सचिव, डीजीपी ओपी सिंह, मेयर संयुक्ता भाटिया सहित तमाम नेतागण और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। दौड़ से पहले सीएम राज्यपाल ने सरदार पटेल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किये और विधानभवन के सामने सीएम ने सभी को शपथ भी दिलाई। मार्च पास्ट में करीब एक दर्जन स्कूलों के बच्चे, पुलिस, पीएसी और केंद्रीय बल की टुकड़ी मौजूद रही।
दौड़ को ध्यान में रखते हुये सुबह ७:०० बजे से कार्यक्रम समाप्ति तक यातायात का डायवर्जन किया गया था। मार्च पास्ट विधान सभा के सामने से प्रारम्भ होकर हजरतगंज चौराहे से होते हुये सिकन्दरबाग चौराहा पर समाप्त हुआ। वहीं, रन फार युनिटी विधान सभा के सामने से प्रारम्भ होकर हजरतगंज चौराहे से बाये अल्का तिराहा, मेफेयर तिराहा, वाल्मीकि तिराहा से होकर हिन्दी संस्थान तिराहा से होते हुए केडीसिंह बाबू स्टेडियम पर समाप्त हुई।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment