वायरस का पॉप-अप भेज कर वसूलते थे लाखों

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

पुलिस की टीमों ने अलग-अलग स्थानों पर की थी छापेमारी, करीब दो दर्जन युवक गिरफ्तार, कंप्यूटर किए सील

नोएडा। विदेशों में बड़ी-बड़ी कंपनियों के कंप्यूटर में पॉप-अप भेजकर उन्हें वायरस का डर दिखाकर लाखों रुपए वसूलने वाले गिरोह का थाना सेक्टर 20 पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस का दावा है कि अब तक अलग-अलग नाम से चलने वाली इन कंपनियों ने करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की है।

एसएसपी डॉ अजय पाल शर्मा ने बताया कि थाना सेक्टर 20 क्षेत्र के अंतर्गत फ्रॉड करने वाली कई कंपनियां चल रही थी। इन सभी कॉल सेंटर पर पुलिस की पैनी नजर थी। बीते दिन पुलिस ने अलग-अलग बिल्डिंग्स पर छापे मारकर 10 लोगों को गिरफ्तार किया।

उन्होंने बताया कि विदेशों में अलग-अलग लोगों के कंप्यूटर पर वायरस का फोटो भेज कर उन्हें कहा जाता था कि आपके कंप्यूटर में वायरस आ गया है। इसे रोका जा सकता है। लेकिन उससे पहले आप हमें रुपए दें। रुपए आने के बाद यह लोग पॉप-अप को खत्म कर देते थे।

पुलिस ने पकड़े गए लोगों के नाम अनिल वर्मा पुत्र अशोक वर्मा, प्रमोद कुमार पुत्र राम देव, गिरी गौरव पुत्र मनोज त्यागी, संदीप कुमार पुत्र जगदीश कुमार, योगेंद्र चौहान पुत्र राधेश्याम, राकेश शर्मा पुत्र शिव लखन शर्मा, गौरव सिंह पुत्र स्वर्गीय ज्ञानेंद्र सिंह और मनीष कुमार पुत्र कुंज बिहारी बताए हैं। ये सभी सेक्टर 2 में डी-84 तथा सेक्टर-63 में सी-23 और ए-54 में काम कर रहे थे।

विभिन्न थाना क्षेत्रों से भी गिरफ्तारी >>
थाना सेक्टर 24 पुलिस ने भी फर्जी कॉल सेंटर चलाने वालों का पर्दाफाश किया है। थाना सेक्टर 58 पुलिस ने भी फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। थाना प्रभारी पंकज राय ने बताया कि 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। ये सभी सेक्टर 57 से कॉल सेंटर चला रहे थे।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment