पूर्व सांसद समेत तीन को बसपा ने निकाला

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी ने पूर्व कैबिनेट मंत्री रामहेत भारती, पूर्व सांसद कैसरजहां और पूर्व विधायक जासमीर अंसारी को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते निष्कासित कर दिया। सीतापुर के इन तीनों ही नेताओं की गिनती पार्टी के कद्दावर लोगों में होती थी।रामहेत भारती बसपा के संस्थापक सदस्यों में से एक रहे हैं। वे दो बार विधायक भी बने और बसपा सरकार में मंत्री भी रहे। वहीं जासमीर अंसारी ने अपने सियासी सफर की शुरुआत नगर पालिका चुनाव से की। बाद में वे विधायक भी बने। पिछले साल वे चुनाव हार गए, फिलहाल वे नगर पालिका चेयरमैन हैं।जासमीर अंसारी की पत्नी कैसरजहां को भी बसपा से निष्कासित किया गया है। कैसरजहां 2019 में पहली ही बार में बसपा के टिकट से सांसद चुनी गईं थी। 2014 में वे हार गईं थीं। लेकिन फिर भी उन्हें साढ़े तीन लाख के करीब वोट प्राप्त हुए थे।

कन्नौज से लड़ेंगे अखिलेश

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ऐलान किया है कि वे लोकसभा चुनाव कन्नौज से लड़ेंगे।

सतीश चंद्र मिश्र को ब्राह्मïण समाज का झटका

वाराणसी। बहुजन समाज पार्टी के वरिष्ठ नेता सतीश चंद्र मिश्र को अपनो ने ही बड़ा झटका दिया है। यहां बुलाई गई एक विशेष बैठक में ब्राह्मïण समाज ने सतीश चंद्र मिश्र को केन्द्रीय ब्राह्मïण महासभा के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। उनकी जगह पर सर्वसम्मति से कमलाकांत उपाध्याय को नया अध्यक्ष चुन लिया गया है। बैठक मेें सतीश चंद्र मिश्र पर वित्तीय अनियमितता के कई गंभीर आरोप लगाए गए।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment