धर्म परिवर्तन का आरोप : ईसाई मिशनरी वालों को हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पीटा

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

आगरा। ताजगंज में एक होटल में मंगलवार को मिशनरी की प्रार्थना सभा में जमकर हंगामा हुआ। अनुसूचित समाज के लोगों को धर्म परिवर्तन के लिए उकसाने की जानकारी होने पर पहुंचे ङ्क्षहदू संगठन के सदस्यों ने मिशनरी से जुड़े लोगों की पिटाई कर दी। वहां रखा सामान तोडफ़ोड़ दिया। पुलिस ने मिशनरी से जुड़े सात लोग हिरासत में लिए गए हैं।
फतेहाबाद रोड स्थित होटल समोगर में मिशनरी ने सभा बुलाई थी। इसमें अनुसूचित समाज के दर्जनों लोगों को बुलाया था। आरोप है कि मिशनरी के लोग ङ्क्षहदू धर्म की निंदा कर धर्म परिवर्तन के लिए उकसा रहे थे। ईसाई धर्म अपनाने पर निश्शुल्क पढ़ाई और नौकरी का लालच दे रहे थे। इसकी जानकारी विश्व ङ्क्षहदू परिषद को मिल गई। शाम चार बजे दर्जनों लोग होटल पहुंच गए। उन्होंने धर्म परिवर्तन को उकसाने का विरोध करते हुए हंगामा कर दिया। सभा में आए लोगों से टकराव हो गया। इसके बाद संगठन के सदस्यों ने उनसे मारपीट कर दी।
स्टेज पर लगा बैनर फाड़ दिया, अन्य सामान तोडफ़ोड़ दिया। सभा में डंडे चलने से अफरातफरी मच गई। उसमें शामिल लोग भाग खड़े हुए। फतेहाबाद रोड पर जाम की स्थिति पैदा हो गई। विहिप की सूचना पर पुलिस पहुंच गई।
पकड़े गए मिशनरी के लोगों का कहना था कि उन्होंने कोई भड़काने वाली बातें नहीं की। प्रार्थना सभा में ईसाई धर्म की खूबियां बता रहे थे। इसी दौरान वहां पहुंचे संगठन के लोगों ने हमला बोल दिया।
उनसे मारपीट की गई। पुलिस के अनुसार पकड़े आरोपितों में लिनिस, सम, अनु, जैक्सन, पी. इलियास, विनीच के थामस, राहुल आदि हैं। सीओ सदर उदयराज सिंह ने बताया आरोपितों पर धार्मिक भावनाएं भड़काने एवं सांप्रदायिक सौहार्द बिगाडऩे का मुकदमा दर्ज किया है।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment