कैंटर की चपेट में आकर पांच लोगों की मौत

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

मेरठ। दिल्ली रोड पर बुधवार देर रात बेकाबू कैंटर की चपेट में आकर पांच लोगों की मौत हो गई। मरनेवालों में पुलिस सिर्फ तीन की ही शिनाख्त करा पायी है। इसके बाद पुलिस ने परिजनों की मौजूदगी में पंचनामा भर तीनों शवों के पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मेरठ के एसपी सिटी रणविजय सिंह का कहना है कि बाकी दो मृतकों की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। अन्य जिलों की पुलिस से भी मदद ली जा रही है।

जानकारी के मुताबिक बुधवार रात करीब साढ़े 11 बजे दिल्ली की तरफ से बेगमपुल की ओर जा रहे तेज रफ्तार कैंटर ने शारदा रोड के सामने पैदल जा रहे एक व्यक्ति को कुचल दिया। इसके बाद करीब 200 मीटर आगे जा रही महेंद्रा पिकअप, फुटबॉल चौक पर एक टेंपो को टक्कर मारदी। कैंटर ने डिवाइडर पर सो रहे लोगों को कुचल दिया। हादसे में पांच लोगों की मौत हुई, जबकि 11 गंभीर रूप से घायल हुए। सूचना पर भाजपा नेता कमलदत्त शर्मा समर्थकों संग मौके पर पहुंचे और पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। इस बीच समर्थकों व पुलिस के बीच हाथापाई भी हुई।
टीपीनगर थाने के कार्यवाहक थाना प्रभारी कैलाश कुमार ने बताया कि पांच में तीन मृतकों की शिनाख्त अरूण पुत्र कर्ण सिंह निवासी आंबेडकर नगर कॉलोनी शारदा रोड ब्रह्मपुरी, रणवीर पुत्र आसे निवासी शिव शक्तिनगर मलियाना टीपीनगर व नाजिर पुत्र शाहबुद्दीन निवासी पीपलीखेड़ा खरखौदा के रूप में हुई है। कैंटर चालक नूर आलम पुत्र मोहम्मद यासीन निवासी ग्राम बरका थाना भगवानपुरा जिला सिवान बिहार निवासी के खिलाफ लापरवाही से गाड़ी चलाने, लापरवाही से मौत, नुकसान व कई लोगों को जख्मी करने की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी सिटी रणविजय सिंह ने बताया कि भविष्य में इस तरह का हादसा न हो, इसके लिए शहर का ट्रैफिक सुरक्षा प्लान तैयार किया जाएगा। प्रमुख चौराहों पर पिकेट लगाकर वाहनों की नियंत्रित गति व वाहन चालक के नशे में होना सुनिश्चित किया जाएगा। प्लान के लिए उच्चाधिकारियों से सलाह ली जा रही है। जल्द ही इसे लागू किया जाएगा।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment