अमेठी में जैश सरगना के साथ राहुल के पोस्टर

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

अमेठी। जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ‘जी कहकर बुलाने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की खूब किरकिरी हो चुकी है। अब उनके गढ़ में भी उनके खिलाफ पोस्टर लगने शुरू हो गए हैं। राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के अमेठी में उनके जैश सरगना मसूद अजहर के साथ पोस्टर लगाए गए हैं।
ये पोस्टर भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा (बीजेवाईएम) के कार्यकर्ता शुभम तिवारी ने लगाए हैं जिसमें पुलवामा हमले के साजिशकर्ता मसूद अजहर को राहुल को सम्मानित करते हुए पेश किया गया है। इसमें लिखा है- जो आतंकवादी को ‘जी कहे ऐसा सांसद अमेठी को नहीं चाहिए।
इसमें आगे लिखा है, ‘देश के पीएम का अपमान करे, आतंकवादी का सम्मान करे, ऐसा सांसद अमेठी को नहीं मंजूर। शुभम तिवारी ने कहा, ‘राहुल गांधी ने आतंकी को सम्मान देकर भारत के लोगों को शर्मसार किया है। अमेठी को लोग इससे काफी आहत हैं क्योंकि राहुल गांधी उनका प्रतिनिधित्व करते हैं। अमेठी के शुभचिंतक के रूप में, मैंने पोस्टर के माध्यम से अपनी नाराजगी दिखाने का फैसला किया। बता दें कि दिल्ली में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राहुल ने जैश सरगना को ‘मसूद अजहर जी बोला था।

इसके तुरंत बाद बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ जुबानी जंग छेड़ते हुए सवाल उठाए। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने राहुल पर तंज कसते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘पाकिस्तान और राहुल गांधी में क्या कॉमन है? आतंकियों के लिए उनका प्यार।’
राहुल ने किया था कटाक्ष!
हालांकि कांग्रेस ने उनके बयान का स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने यह बात दूसरे संदर्भ में कही थी। अमेठी से एमएलसी दीपक सिंह ने कहा, ‘बीजेपी ने राहुल गांधी के शब्दों में कटाक्ष को समझ लिया था। हमारे हमले से आहत होकर उन्होंने अपने प्रॉपेगैंडा के तहत हमें काउंटर किया।’


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment