सेफ सिटी का लक्ष्य तय करेगी कमिश्नरेट पुलिस

0
8

नोएडा। जिला गौतमबुद्ध नगर में जब से कमिश्नरी व्यवस्था लागू हुई है। तब से लेकर अब तक कमिश्नरेट पुलिस की क्या-क्या उपलब्धि रही और आने वाले साल में क्या लक्ष्य होगा इसकी पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने विस्तृत जानकारी दी। परिसंवाद कार्यक्रम में संवाददाताओं को सम्बोधित करते हुए उन्होंने अपराध का रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत किया।
इस मौके पर अपर पुलिस कमिश्नर कानून-व्यवस्था लव कुमार ने 2020 में हुए अपराध के आंकड़े 2019 से तुलना करके बताया। जिसमें 2020 में अपराध का ग्राफ पिछले साल की अपेक्षा काफी कम रहा। वहीं डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित किए गए उपाएं और आने वाले वर्ष में किए जाने वाले काम के बारे में अपनी प्लानिंग बताई। जबकि डीसीपी ट्रैफिक गणेश शाहा ने ट्रैफिक सुधारने को लेकर अपने योजना बताई। उन्होंने आम जनता से फीडबैक लेने के बाद उसे कम करने पर जोर देने की बात कहीं।
पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने बताया कि 11 नए थाने और दो चौकी का निर्माण किया जाएगा। 5 थाने यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में नोएडा एयरपोर्ट और फिल्म सिटी के नजदीक होंगे। साथ ही, लोगों की सुरक्षा के लिए 1600 नए हाई रिजोल्यूशन कैमरे लगाए जाएंगे। फरवरी से नोएडा एयरपोर्ट का निर्माण शुरू हो जाएगा। इसके लिए डीसीपी एयरपोर्ट की तैनाती होगी।
श्री सिंह बताया कि 13 जनवरी को शासन की तरफ से पुलिस कमिश्नरेट बनाया गया था। इसके शुरू होने के बाद ही वैश्विक महामारी कोविड-19 आ गया। इस कारण कमिश्नरेट पुलिस की तरफ से कई काम अधूरे रह गए। अब नए साल 2021 में इसे पूरा करने की योजना है। महामारी के कारण पुलिस संक्रमण की रोकथाम और लोगों की मदद में जुट गई थी। इस कारण पुलिस के लक्ष्य के मुताबिक कई काम बाकी रह गए और उन्हें रोक दिया गया था। अब इन्हें शुरू किया जाएगा और जनपद में लागू भी किया जाएगा। कमिश्नर आलोक सिंह ने बताया कि पुलिस की और से सेफ सिटी परियोजना की परिकल्पना की गई है। इसके तहत जनपद को सुरक्षित बनाने के लिए तरह-तरह के काम किए जाएंगे। सेफ सिटी योजना के तहत कि जनपद में 1600 कैमरे लगेंगे।