समाज सेवा करना ही मेरा अंतिम लक्ष्य : केपी सिंह

0
5

नोएडा। आमतौर पर लोग इस भागदौड़ की जिंदगी में केवल अपने लिए ही सुख साधन जुटाते रहते हैं लेकिन कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जो अपने सुख साधनों को त्याग कर दूसरों के लिए कुछ करने का जज्बा रखते हैं।
ऐसे ही समाज सेवी हैं केपी सिंह जिन्होंने नौकरी के साथ-साथ समाज सेवा करने की ललक अपने अंदर जगाई। केपी सिंह नोएडा प्राधिकरण के उद्यान विभाग में तैनात है। जय हिंद जनाब को बताया कि 2018 में उनको लगा कि अपने गांव में कुछ अलग हटकर करना चाहिए। के पी सिंह का गांव नंदपुर है जोकि हापुड़ के धौलना में आता है। यहां उन्होंने समाज में फैली विषमता को दूर करने की कोशिश अपनी संस्था मिनी मेवाड चैरिटेबल फाउंडेशन ग्राम नंदपुर धौलाना के माध्यम से शुरू कर दी हैं। के पी सिंह बताते हैं कि संस्था के माध्यम से वह 10 मई को महाराणा प्रताप जयंती के मौके पर नंदपुर में भंडारा और मकर सक्रांति पर हजारों लोगों को कंबल वितरित करते हैं।
संस्थापक केपी सिंह ने कहा कि मिनी मेवाड चैरटेबल फाउंडेशन की ओर से वह गरीब कन्याओं का विवाह भी कराते हैं। इतना ही नहीं युवा प्रतिभा को आगे लाने के लिए नंदपुर में बने स्टेडियम में खेलकूद प्रतियोगिता का भी आयोजन समय-समय पर कराते हैं। केपी सिंह ने बताया कि पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए उनकी संस्था ने करीब 30 गांवों में 600 वृक्ष लगाएं और यमुना तट पर यमुनाजी को साफ करने का बीड़ा उठाया। अब तक उनकी संस्था से करीब 100 से अधिक लोग जुड़ चुके हैं। फिलहाल इस संस्था के अध्यक्ष गिरीश सिसोदिया है जबकि महासचिव संजय शर्मा है। केपी सिंह ने बताया कि नोएडा प्राधिकरण में उद्यान विभाग में भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं रिटायर होने के बाद वह समाज सेवा करना ही अपना लक्ष्य बना रहे हैं उन्होंने कहा कि किसानों को विभिन्न प्रकार की फसलो की जानकारी और नई तकनीक से खेती करने के लिए भी उनकी संस्था द्वारा जागरूकता के लिए काम किया जाता है केपी सिंह ने कहा कि मेवाड़ चैरटेबल सरसा श्मशान घाट की सफाई पर भी विशेष ध्यान दे रही है उन्हें फिलहाल संस्था को चलाने के लिए धन आपसी सहयोग से ही प्राप्त हो रहा है।