नक्काशी और हैंडीक्राफ्ट के बनेंगे उपकरण

0
5

ग्रेटर नोएडा। यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण में औद्योगिक योजनाओं में सफलता हासिल करने के बाद अब फर्नीचर बनाने वालो के लिए एक अलग पार्क विकसित करने की घोषणा की है। सेक्टर 28-29 में फर्नीचर पार्क बनाने का प्रस्ताव है।
300 एकड़ क्षेत्र में प्रस्तावित इस पार्क को देशभर के फर्नीचर उत्पाद से जुड़ी कंपनियों व कारीगरों को जोडऩे की तैयारी है। इससे 1700 करोड़ रुपये के निवेश और हजारों लोगों को रोजगार भी मिलेगा। दरअसल, नोएडा एयरपोर्ट के कारण यमुना प्राधिकरण एरिया में औद्योगिक निवेश तेजी से बढ़ा है। प्राधिकरण की तरफ से जो भी योजनाएं लांच की गईं, वे सफल हुई हैं। इन योजनाओं के अधिकतर प्लॉट बिक गए हैं। प्राधिकरण का मानना है कि अपैरल व हैंडीक्राफ्ट के उत्पाद वुडन और फर्नीचर से जुड़े हुए हैं। फर्नीचर पार्क बनाने से अपैरल व हैंडीक्राफ्ट कंपनियों को भी फायदा मिलेगा। यहां के लोगों को सस्ते और बेहतरीन फर्नीचर उत्पाद मिल सकेंगे। प्राधिकरण की योजना है कि फर्नीचर पार्क से देश के प्रसिद्ध कारीगर भी जुड़ें, इसके लिए उन जगहों के संगठनों से संपर्क साधा जाएगा। खासतौर पर सहारनपुर व बरेली के वुडन कारीगरों को इससे जोडऩे की कोशिश रहेगी।
प्राधिकरण अधिकारियों ने बताया कि फर्नीचर उद्योग को बढ़ावा देने के लिए वाणिज्यिक मंत्रालय भी अपनी शर्तों में ढील देने जा रहा है। इसका फायदा फर्नीचर पार्क में आने वाली कंपनियों को भी मिलेगा।