एयरपोर्ट के दूसरे चरण के लिए जल्द शुरू होगा अधिग्रहण

0
16

ग्रेटर नोएडा। जेवर में बनने वाले नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण का दूसरा चरण पूरा करने के लिए प्रक्रिया शुरू की जा रही है। फिलहाल दूसरे चरण के जमीन अधिग्रहण के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। प्रस्ताव के साथ जमीन की कुल कीमत का 10 प्रतिशत धनराशि भी जारी करने की मांग की गई है। दूसरे चरण में 1365 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाना है।
शासन की अनुमति के बाद यह प्रस्ताव जिला प्रशासन को भेजा जाएगा ताकि जमीन अधिग्रहण शुरू हो सके। जेवर एयरपोर्ट के पहले चरण के लिए 1334 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जा चुका है। पहले चरण के लिए विकासकर्ता कंपनी ज्यूरिख इंटरनेशनल एयरपोर्ट एजी से अनुबंध हो चुका है और 7 दिसंबर तक उसका मास्टर प्लान फाइनल हो जाएगा। जेवर एयरपोर्ट 4 चरणों में पूरा किया जाना है। पहले चरण की जमीन ली जा चुकी है।
अब दूसरे चरण की जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। इस चरण में 1365 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण होना है। यमुना प्राधिकरण ने जमीन अधिग्रहण के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा दिया है। प्रस्ताव में जमीन अधिग्रहण की अनुमति मांगी गई है। साथ ही, जमीन की कीमत का 10 प्रतिशत पैसा भी मांगा गया है ताकि प्रक्रिया शुरू की जा सके। शासन से अनुमति के बाद यह प्रस्ताव जिला प्रशासन को भेजा जाएगा। जिला प्रशासन ही जमीन अधिग्रहण करेगा। दूसरे चरण के अधिग्रहण के बाद तीसरे व चौथे चरण की जमीन ली जाएगी।
एक रनवे और एमआरओ सेंटर विकसित होगा : जेवर एयरपोर्ट के दूसरे चरण में एक रनवे और एमआरओ (मेंटीनेंस रिपेयरिंग एंड ओवरहॉलिंग) सेंटर विकसित किया जाएगा। यह रनवे एमआरओ के लिए भी बनाया जाएगा। जेवर एयरपोर्ट में देश का सबसे बड़ा एमआरओ सेंटर विकसित किया जाएगा। अभी तक अधिकतर विमानों का मेंटीनेंस दूसरे देशों में कराया जाता है लेकिन अब इसमें भी आत्मनिर्भरता हो जाएगी।