मुठभेड़ स्थल से आतंकवादी का शव बरामद

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में एक दिन पहले सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में मारे गए एक आतंकवादी का शव शनिवार को बरामद किया गया। पुलिस महानिदेशक एस.पी. वैद और सेना के एक प्रवक्ता ने थामुना गांव में हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों के मारे जाने की पुष्टि की थी। इस बीच शुक्रवार को भी सुरक्षाबलों और स्थानीय लोगों को बीच हुई झड़प व पथराव की घटना में फैजान अहमद (15) मारा गया और आठ अन्य प्रदर्शनकारी घायल हो गए।

और पढ़ें >>

कश्मीर में सेना से झड़प के लिए हिज्बुल, जैश ने बच्चों का किया इस्तेमाल

संयुक्त राष्ट्र। पाकिस्तान स्थित प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और हिज्बुल मुजाहिदीन ने बीते साल जम्मू-कश्मीर में सेना से हुई झड़पों के दौरान बच्चों का इस्तेमाल किया था। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की गुरुवार को आई रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। संयुक्त राष्ट्र की वार्षिक ‘चिल्ड्रन ऐंड आर्म्ड कॉन्फ्लिक्टÓ रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल दुनिया भर में हुए सशस्त्र संघर्षों में 10,000 से ज्यादा बच्चे मारे गए या विकलांगता का शिकार हुए थे। जनवरी से दिसंबर 2017 के बीच के आंकड़ों को लेकर तैयार की गई इस रिपोर्ट के मुताबिक,…

और पढ़ें >>

बालटाल में भारी बारिश के बाद रुकी अमरनाथ यात्रा

श्रीनगर। भारी बारिश की वजह से जम्मू-कश्मीर में बुधवार से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा को रोक दिया गया है। बालटाल में हुई भारी बारिश के बाद श्रद्धालुओं को आगे के रास्ते पर जाने से फिलहाल रोक दिया गया है। अब तक की सबसे कड़ी सुरक्षा के बीच अमरनाथ यात्रा बुधवार से शुरू हुई थी। इस बार 1.96 लाख श्रद्धालुओं ने यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। यात्रा के लिए 2,995 श्रद्धालुओं का पहला जत्था जम्मू से रवाना हुआ था। इनमें से 1091 यात्री बालटाल, वहीं 1904 यात्री पहलगाम स्थित बेस…

और पढ़ें >>

शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के बीच रवाना हुआ पहला जत्था

जम्मू/श्रीनगर। अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला जत्था बहुस्तरीय सुरक्षा घेरे में बुधवार की सुबह जम्मू के भगवती नगर आधार शिविर से रवाना हुआ। यात्रियों का ये पहला जत्था कश्मीर के दो आधार शिविरों बालटाल और पहलगाम से रवाना हुआ है। इस जत्थे में कुल 1904 श्रद्धालु हैं, जिनमें 1554 पुरुष, 320 महिलाएं और 20 बच्चे शामिल हैं। आतंकी हमले के खतरे को देखते हुए सुरक्षा के इंतजाम काफी कड़े किए हुए हैं। ये यात्री दिन में कश्मीर के गांदेरबाल स्थित बालटाल और अनंतनाग स्थित नुनवान, पहलगाम आधार शिविर…

और पढ़ें >>

कश्मीर में एकाएक कैसे रूक गई पत्थरबाजी

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में राष्टï्रपति शासन लागू होते ही एकाएक पत्थरबाजी रूक गई है। जिससे यह साफ हो गया है कि पत्थरबाज किराए के  थे। सूत्रों की माने तो पत्थरबाजी करने वालों में ज्यादातर लोग पश्चिम उत्तर प्रदेश के बागपत, सहारनपुर व आसपास के जिलों के बताए गए हैं। इन लोगों को बकायदा नौकरी पर रख कर ले जाया गया। इन जानकारियों को सच माने तो यह जांच का विषय है कि आखिर उन लोगों को पत्थरबाजी के लिए नौकरी पर लेकर कौन गया। यह सामने आना चाहिए। उधर, सुरक्षाबलों ने…

और पढ़ें >>

क्या जम्मू कश्मीर में 1990 का इतिहास खुद को दोहरा रहा है?

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के इस्तीफे से पैदा हालात घाटी में 1989 के नवंबर में बुरी तरह बिगड़ी समाजिक, राजनीतिक और कानून व्यवस्था की स्थिति याद दिला रहे है। इसी के साथ ये 1990 में मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के इस्तीफे की याद भी ताजा कर रहे हैं। केंद्र में बीजेपी और वाम मोर्चा समर्थित जनता दल की वी पी सिंह सरकार बनने के साथ घाटी में कश्मीरी पंडितों के कत्लेआम और उन्हें घाटी से बाहर खदेडऩे का सिलसिला शुरू हो गया था।  घाटी से जान हथेली…

और पढ़ें >>

अलगाववादियों के बंद से जनजीवन प्रभावित

श्रीनगर। कश्मीर घाटी में गुरुवार को अलगाववादियों के बंद से जनजीवन प्रभावित हुआ है। सैयद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारुख और मुहम्मद यासीन मलिक के नेतृत्व में अलगाववादी समूह संयुक्त प्रतिरोध नेतृत्व (जेआरएल) ने वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारई की हत्या और घाटी में लगातार हो रही नागरिकों की हत्या के विरोध में बंद का आह्वान किया था। उनके साथ उनके दो सुरक्षाकर्मी भी मारे गए थे। अधिकतर स्थानों पर दुकानें, सार्वजनिक परिवहन, शैक्षणिक संस्थान और अन्य प्रतिष्ठानों को बंद रखा गया है, जबकि सार्वजनिक परिवहन का साधन नहीं होने की…

और पढ़ें >>

सेना का ऑपरेशन शुरू दो आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सीजफायर खत्म होने के बाद आतंकियों के खिलाफ एक बार फिर सेना का ऑपरेशन शुरू हो गया है। आज सुबह सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर के बिजबेहारा में आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन शुरू किया। सीजफायर खत्म होने के बाद आतंकियों के खिलाफ यह सेना का पहला ऑपरेशन है।इसके अलावा आज ही बांदीपुरा में चल रहे ऑपरेशन में सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया है। इसी एनकाउंटर में ही सेना ने 14 जून को दो आतंकियों को ढेर किया था। इसमें एक जवान भी शहीद हुआ था।…

और पढ़ें >>

शहीद औरंगजेब के परिवार से मिले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत

जम्मू-कश्मीर में सीजफायर के खत्म होने से एक दिन पहले ही आतंकियों ने सेना के जवान औरंगजेब को मार दिया था. उनकी शहादत को पूरा देश सलाम कर रहा है और सोमवार को सेना के प्रमुख जनरल बिपिन रावत औरंगजेब के परिवार से मिलने पहुंचे. उन्होंने परिवार वालों के साथ करीब आधे घंटे का समय बिताया. और दक्षिणी कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकवादियों द्वारा अगवा किए जाने के बाद मार दिए गए राइफलमैन औरंगजेब को पुंछ जिले के सलानी गांव में भारत समर्थक और पाकिस्तान विरोधी नारों के बीच…

और पढ़ें >>

जम्मू-कश्मीर में घुसे 20 आंतकी, अलर्ट

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों पर हमले की आशंका के चलते अलर्ट जारी कर दिया गया है। इनपुट्स के मुताबिक, आने वाले दो-तीन दिनों में सेना या उसके ठिकानों पर फिदायीन हमले किए जाने की संभावना है। इसके अलावा सुरक्षाबलों ने यह भी शंका जताई है कि यह हमला हिट ऐंड रन टाइप का भी हो सकता है। खबरों के मुताबिक पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से करीब 20 आंतकी घुसपैठ कर चुके हैं। गौरतलब है कि रमजान के महीने में भारत सरकार की नरमी की घोषणा के बाद से आतंकी गतिविधि लगातार…

और पढ़ें >>