• Google

सेक्टर-11 के एफ-55 में अग्निकांड, 6 की मौत : शवों की तलाश

By: khan.shaheen
20-04-2017 14:52:36 PM

केन्द्रीय पर्यटन मंत्री डा. महेश शर्मा और यूपी के उद्योग मंत्री सतीश महाना मौके पर

  कहां हुई लापरवाही

कंपनी ने फायर की एनओसी नहीं ली

एफ-55 सेक्टर-11 में चल रही एलईडी एसेंबलिंग कंपनी व बिल्डिंग मालिक की ओर से अग्निशमन विभाग से एनओसी नहीं ली गई थी। इसके अलावा लेबर डिपार्टमेंट में भी किसी तरह का रजिस्ट्रेशन नहीं है।

देरी से पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम

फायर ब्रिगेड सर्विस को 101 नंबर पर फोन करते रहे लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला। सेक्टर-58 में रिस्पॉन्स मिला, तब जाकर घंटों बाद फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां मौके पर पहुंची, तब तक आग अपने उफान पर पहुंच चुकी थी।

गार्ड रूम में भरा हुआ था जनरेटर का डीजल
कंपनी के गेट पर गार्ड रूम में करीब 50 लीटर की डीजल की केन भरी हुई रखी थी। आग लगते ही यहां भी चिंगारी पहुंची और विकराल रूप ले लिया। इस भयंकर आग से  पड़ोस वाली कंपनी बाल-बाल बची।

एसीईओ  पीके अग्रवाल कर रहे जांच
 

 

 

सेक्टर-11 फैक्टरी में हुए अग्निकांड की जांच प्राधिकरण ने भी शुरू कर दी है। आज सुबह एसीईओ पीके अग्रवाल और डीएस उपाध्याय मौके पर पहुंच गए हैं। श्री उपाध्याय ने बताया कि वे जांच कर रहे हैं कि कंपनी की ओर से क्या प्रोजेक्ट रिपोर्ट लगाई गई थी, नक्शा व कंप्लीशन पास कराया गया था या नहीं। इसके अलावा कई अन्य बिंदुओं पर जांच की जा रही है।

सेक्टर-11 के एफ-55 में लगी आग बुझा ली गई है। अब तक यहां से 6 शव निकाले जा चुके हैं। 4 की शिनाख्त हो चुकी है 2 की शिनाख्त नहीं हो पाई है। डीएनए के आधार पर दोनों शवों की शिनाख्त की जाएगी। आज सुबह जिला प्रशासन, दमकल विभाग, पुलिस की टीमें यहां जला हुआ कूड़ा हटा कर शवों की तलाश कर रही थी। फिलहाल सुबह कोई शव नहीं मिला है।
एसपी सिटी दिनेश यादव ने बताया कि दो लोग लापता हैं। उनकी मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस पता लगा रही है कि वे यहीं थे या कहीं और थे।
वहीं, इस अग्निकांड की मजिस्ट्रेट जांच शुरू कर दी गई है। एडीएम कुमार विनीत मामले की जांच कर रहे हैं। सिटी मजिस्ट्रेट रामानुज सिंह सुबह-सुबह यहां मलबे को हटा कर शवों की तलाश कराने लगे थे।
उधर, इस अग्निकांड में मारे गए लोगों को मुआवजा दिलाने की प्रक्रिया प्रशासन ने शुरू कर दी है। दादरी तहसीलदार पीएल मौर्या यहां पर जांच पड़ताल के लिए पहुंचे और उन्होंने पूरी जानकारी इकट्ठा की। फिलहाल पूरी जानकारी शासन को भेजी जा रही है।
 


Create Account



Log In Your Account