• Google

विश्वयुद्ध के मुहाने पर दुनिया

By: janabhind
08-04-2017 13:43:44 PM

सीरिया हमले से बिफरे रूस ने कहा अमेरिका से सैन्य टकराव बस एक इंच दूर
 
मॉस्को। डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सीरिया पर मिसाइल अटैक किए जाने का सबसे ज्यादा असर अमेरिका और रूस के संबंधों पर पड़ा है। विश्व की ये दो बड़ी महाशक्तियां सैन्य टकराव की स्थिति की ओर बढ़ती दिख रही हैं। अमेरिका द्वारा शरयात एयरबेस पर 59 टॉमहॉक क्रूज मिसाइल दागने के बाद अमेरिका और रूस का आपसी तनाव खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है। रूस ने अमेरिका के साथ अपना हॉटलाइन संपर्क भी काट दिया है। इस हॉटलाइन का इस्तेमाल करके ही रूस और अमेरिका सीरिया में सीधी भिड़ंत से बचने के लिए अपनी-अपनी सैन्य कार्रवाई के बारे में एक-दूसरे को सूचित करते रहे हैं। रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मिदवेदेव ने अमेरिका को चेतावनी दी है कि उसके द्वारा किए गए इस हमले के कारण मॉस्को और वॉशिंगटन के बीच सैन्य टकराव केवल एक इंच दूर रह गया है।
रूस की तैयारीरूस ने क्रज मिसाइल्स से लैस अपने लड़ाकू जहाजों को ब्लैक सी से लाकर सीरिया के बंदरगाह पर तैनात करने का आदेश जारी किया है
 
 
 
S-400 और S-300
मिसाइलों की नई खेप को भी तैनात करने का निर्देश दिया है इन मिसाइलों और लड़ाकू विमानों को रूसी फौज और असद की सीरियन सेना की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा।
दो खेमों में बंट रही दुनियाअमेरिकी के साथ :  ब्रिटेन, सऊदी अरब, टर्की, जर्मर्नी, फ्रांस हैं।
रूस के साथ : ईरान, सीरिया इराक आदि देश शामिल हैं। 
ब्रिटिश सरकार ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा सीरिया में मिसाइल हमला किए जाने की कार्रवाई का वह पूरी तरह समर्थन करता है।


Create Account



Log In Your Account