• Google

Execlusive >> शराब बेचारी और मुर्गा जल्लाद

By: janabhind
07-04-2017 14:03:41 PM

Mohd. Imran | प्रदेश में बूचड़खानों को बंद कराने की सरकारी-गैर सरकारी मुहिम रंग ला रही है। लगभग सभी बूचड़खाने बंद हैं, चाहे वैध हो या अवैध। सरकार की कुछ अलग करके दिखाने वाली प्रशासनिक-पुलिस अधिकारी वैध को भी अवैध की तरह मान कर चल रहे हैं। रही-सही कसर कथित गौ रक्षक पूरा कर रहे हैं। ऐसे कानून हाथ में लेने वालों पर अंकुश लगाना योगी सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती है।

 

 


किसी बूचड़खाने में मुर्गा या बकरा ही क्यों न कट रहा हो लेकिन कथित गौ रक्षकों को हाईलाइट होने के लिए इसमें भी उन्हें गाय ही दिखती है। हरियाणा और राजस्थान में गौ रक्षा के नाम पर हत्याएं हो रही हैं और सरकार मूकदर्शक बने रहने की कोशिश कर रही है। बात नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ बुलंदशहर की करें तो कसाई बिरादरी इतना डर चुकी है कि वैध रूप से भी काम करने में डर रहे हैं।

 


वैसे तो उत्तर प्रदेश में शराब पर पाबंदी नहीं है लेकिन इसकी बिक्री को लेकर महिलाओं में गुस्सा पनप रहा है।  अलग-अलग स्थानों से खबरें आ रही हैं कि शराब की दुकानों पर महिलाओं ने पत्थरबाजी की है। ऐसा लग रहा है कि महिलाओं ने कश्मीर वाले पत्थरबाजों से प्रशिक्षण लिया हो। इतना सब हो रहा है लेकिन शराब बेचारी बनी है। कथित रक्षक भी इस सामाजिक बुराई पर बलवान बनते नहीं दिख रहे तथा प्रशासन-पुलिस का रुख भी नरम है। ऐसा लगता है कि शराब के अवैध ठेकों  को भी वैध की श्रेणी में ला दिया गया है। क्योंकि कुछ हाईवे नगर निगम के अंदर दिए जा रहे हैं।


इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की बात करें तो शराब कारोबारियों को ऐसे पेश किया जा रहा है कि उनकी दुनिया लुट गई हो। छोटे-छोटे धरने, प्रदर्शन को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया जा रहा है। वहीं, मीट कारोबारी वैध रूप से अपना काम नहीं कर पा रहे हैं। इन्हें दिखाने के लिए शायद खबरिया चैनलों के पास पलभर का भी समय नहीं है।


नोएडा में हिन्दू वाहिनी ने मीट की दुकानें बंद कराने को कहा है। हालांकि प्रशासन-पुलिस पहले ही सभी अवैध दुकानें बंद करा चुकी है। कुछ एक वैध दुकानें खुली हैं। हो सकता है कि काम की तलाश में भटक रहे हिन्दू वाहिनी के कार्यकर्ताओं को वैध दुकानें बंद कराने के लिए खुद को व्यवस्त कर कानून हाथ में लेना पड़े। ऐसे में सबसे अहम सवाल यही है कि हिन्दू वाहिनी किस हक से मीट दुकानें बंद कराने का कदम उठा रही है। क्या कानून का राज खत्म हो गया।


हालांकि नोएडा के एसपी सिटी दिनेश यादव ने साफ कहा कि यदि हिन्दू वाहिनी ने ऐसा कदम उठाया तो कार्रवाई की जाएगी। किसी को कानून  हाथ में लेने नहीं दिया जाएगा।


Create Account



Log In Your Account