• Google

सत्ता भोगियों के लिए नहीं योगियों के लिए है

By: admin
06-04-2017 14:48:48 PM

सीएम योगी ने कहा कि रोमियों की कोई जाति नहीं थी और न ही कोई संप्रदाय था। हमारे लिए महत्वपूर्ण है कि हमारी बेटी और बहनें सुरक्षित रह सकें। रात के अंधेरे में वे घर जाएं तो वे सुरक्षित पहुंचें। मुख्य बातें
किसानों का कर्ज माफ एक बड़ी उपलब्धि, गन्ना किसानों को 15 दिनों के अंदर भुगतान कराना है
हिन्दू राष्टï्र कोई गलत अवधारणा नहीं
बूचड़खाने पर केवल कोर्ट
के आदेशों का पालन
कराया जा रहा है।


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने पहले इंटरव्यू में कहा है कि वह किसी के साथ भेदभाव रूप से काम नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमारे अभिभावक हैं, हमें उनके विजन पर चलना है। 'सबका साथ-सबका विकासÓ पहली
प्राथमिकता है।

 

 

 

 

 

 

उन्होंने कहा कि हिंदू राष्ट्र निर्माण कोई गलत अवधारणा नहीं है। यह एक वे ऑफ लाइफ है। सुप्रीम कोर्ट के वक्तव्य का उन्होंने हवाला दिया। उन्होंने कहा कि यह रास्ता उचित है और उचित रास्ते को अपनाने में हमें कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। देश हित में कार्य करना  तथा लोक कल्याणकारी योजनाओं को प्राथमिकता देना मेरा कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ऐसे शख्स हैं जो 3 साल सत्ता में रहने के बाद भी लोगों के बीच और ज्यादा लोकप्रिय हुए हैं। उसका नतीजा उत्तर प्रदेश चुनाव के परिणाम हैं।
सीएम योगी ने कहा कि राज्यसत्ता योगी ही चला सकता है, भोगी नहीं। प्रधानमंत्री का जीवन योगी और संयासी से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे राज्यसत्ता चलाने का अवसर मिला है इससे जाहिर होता है कि सत्ता योगियों के लिए है भोगियों के लिए नहीं।

 

अपनी आलोचना के सवाल पर उन्होंने कहा कि कौन मुझे क्या कह रहा है मुझे इसकी परवाह नहीं। केन्द्र में मोदी सरकार है जो लोक कल्याण कारी योजनाएं ला रही है उसे प्रदेश में लागू करना है।
उन्होंने कहा कि कर्ज माफी से अन्नदाता खुश हैं। किसानों की आय को दोगुना करना हमारी प्राथमिकता है। 2020 तक इस लक्ष्य को पूरा करना है। उन्होंने कहा कि जिन किसानों का गन्ने का चीनी मिलों पर बकाया है उसका भुगतान 15 दिनों में किया जाए। इसके अलावा सीएम योगी ने अपनी कई महत्वकांक्षी
योजनाएं भी सराही।


Create Account



Log In Your Account