• Google

नाइजीरियन-चाइनीज पर जिले में बवाल

By: admin
28-03-2017 13:43:19 PM

नोएडा। सेक्टर-63 स्थित चाइना की मोबाइल निर्माता कंपनी ओप्पो के प्रबंधन पर कर्मचारियों ने भारत का झंडा फाड़कर कूड़ेदान में डालने के संगीन आरोप लगाए हैं। जिसके बाद कंपनी के बाहर हंगामा शुरू हो गया है। हालांकि इस हंंगामे के पीछे  कर्मचारियों का रुका हुआ वेतन और उन्हें कंपनी से निकालना भी माना जा रहा है। इस सबके बीच कंपनी की ओर से कोई अधिकारिक पुष्टिï नहीं की गई। 
 
हांगामे को देखते हुए एसपी सिटी दिनेश यादव, सिटी मजिस्ट्रेट रमानुज सिंह सहित कई अधिकारी कपंनी प्रबंधन से मौके पर बातचीत कर रहे हैं। इस सबके बीच कंपनी के बाहर कर्मचारियों का हंगामा जारी है।  
 
उधर ग्रेटर नोएडा में अफ्रीकी महाद्वीप के नाइजीरिया देश के नागरिकों का भी मामला तूल पकड़ रहा है। बीती रात ग्रेटर नोएडा में कैंडल मार्च निकाल रहे लोगों ने नाइजीरियन नागरिकों को पकड़ लिया और उनकी जमकर पिटाई की। दोनों ही मामले तूल पकड़ते जा रहे हैं। 
 
चीन के नागरिक पर झंडा फाडऩे का आरोप
 
ओप्पो कंपनी के शीर्ष अधिकारी एवं चीनी नागरिक जुआऊं पर भारतीय झंडा फाड़कर कूड़ेदान में डालने का आरोप है। हंगामे कर कर्मचारियों ने कहा कि कंपनी का एचआर हेड रवि भी इस साजिश में शामिल हुआ है। उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए और कंपनी को यहां भारत से निकाला जाए।
बजरंगदल व विहिप हंगामे में शामिल
 
हंगामे की सूचना मिलते ही बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने कर्मचारियों के साथ जमकर नारे लगाए। हालांकि पुलिस ने कुछ लोगों को बाहर ही रोक दिया था। बताया जा रहा है कि केवल राजनीति के लिए ये कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे थे। 
राष्टï्रभक्ति या फिर वेतन का मामला
 
झंडा फाडऩे के आरोप में हंगामा कर रहे कर्मचारी खुद में स्पष्टï नहीं है कि वह हंगामा राष्टï्रभक्ति के लिए कर रहे हैं या कंपनी की ओर से कम दिए जा रहे वेतन के लिए कर रहे हैं। कर्मचारियों ने बताया कि यहां से कंपनी प्रबंधन ने करीब 300 कर्मचारियों को बिना नोटिस के निकाल दिया। कंपनी प्रबंधन अपनी पूरी मनमानी कर रहा है। इससे पता चलता है कि मामला किस लिए चल रहा है। 


Create Account



Log In Your Account