• Google

बिना काम सुविधाएं भोगने वाले अफसरों की होगी जांच

By: admin
27-03-2017 14:15:59 PM

नोएडा। उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद वे अफसर अब निशाने पर आ गए हैं, जो पिछली सरकार के कार्यकाल में मलाई मार रहे थे। सूत्रों की मानें तो ऐसे लोगों को सूचीबद्ध कर जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। नोएडा, ग्र्रेटर नोएडा में भी कई ऐसे अफसर हैं। उच्च स्तर पर अब उनकी रिपोर्ट मांगी जा रही है।
 
उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार आने के बाद अनुराधा शुक्ला को नोएडा प्राधिकरण में अतिरिक्त कार्यभार देकर ओएसडी के रूप में तैनात कर दिया गया है। दफ्तर के साथ-साथ उन्हें तमाम वे सभी सुविधाएं दी गईं जो यहां के चेयरमैन को दी गई थीं। उनके असर का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि चेयरमैन का बंगला भी उन्हीं को आवंटित रहा। मेंटिनेंस के नाम पर लाखों रुपए खर्च होते रहे। लेकिन वे कभी नोएडा दफ्तर नहीं आईं। अभी तक उनकी पोस्टिंग बरकरार है। इसी तरह मोनिका एस गर्ग भी प्राधिकरण में बतौर ओएसडी ही तैनात हैं परंंतु वे भी कभी ऑफिस नहीं आईं। वे पूर्व में प्राधिकरण की सीईओ भी रह चुकी हैं। 
ग्रेटर नोएडा में भी शैलेंद्र कुमार ओएसडी के रूप में ही तैनात हैं। वरिष्ठ आईएएस श्री कुमार बीमार हैं और अपना इलाज कराने के लिए यहां तैनात हैं। 


Create Account



Log In Your Account