• Google

पाकिस्तान में लापता सूफी लौटे वतन

By: admin
20-03-2017 14:12:17 PM

नई दिल्ली। पाकिस्तान में लापता हुए दो भारतीय खादिम सोमवार को भारत लौट आए। इनमें हजरत निजामुद्दीन औलिया दरगाह के मुख्य खादिम आसिफ अली निजामी और उनके भतीजे नजीम अली निजामी हैं।
दोनों खादिम और उनके परिजन सुषमा स्वराज से भी मिलेंगे। रविवार को सुषमा स्वराज ने दोनों की पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों से रिहाई की जानकारी दी थी। सुषमा ने रिहाई के लिए नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज से बात की थी। खादिम और नजीम निजामी लाहौर की दाता दरबार दरगाह पर गए थे। उन्हें वहां से लौटने के लिए कराची की फ्लाइट में बैठना था। उनके परिवार के लोगों का कहना था कि आसिफ निजामी को लाहौर एयरपोर्ट पर अधूरे ट्रेवल डॉक्युमेंट्स होने का कारण बताकर रोका गया था।


एक सूत्र ने बताया था कि खादिम लाहौर एयरपोर्ट से, जबकि दूसरे मौलवी कराची एयरपोर्ट से लापता हो गए। भारत सरकार ने और इस्लामाबाद में मौजूद भारतीय राजूदत ने यह मामला पाकिस्तान सरकार के सामने उठाया। बताया गया कि ये दोनों मौलवी अपने रिश्तेदारों से मिलने कराची गए थे। इसके बाद वे लाहौर में दाता दरबार की दरगाह पर गए थे। लंबे समय से दाता दरबार और निजामुद्दीन दरगाह के खादिम एकदूसरे के यहां आते-जाते रहे हैं।
पाकिस्तान में अलग-अलग दावे

- पाकिस्तानी मीडिया में खबरें आईं कि आईएसआई ने दोनों मौलवियों को गायब करवाया है।
- पाक खुफिया एजेंसियों को शक था कि दोनों का ताल्लुक मुहाजिर कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) से हो सकता है।
- हालांकि आधिकारिक तौर पर पाक सरकार कहती रही कि आसिफ और नाजिम अपने श्रद्धालुओं से मिलने सिंध के अंदरूनी इलाकों में गए थे और वहां मोबाइल सेवा ना होने के चलते उनका परिवार से संपर्क नहीं हो पा रहा था।


Create Account



Log In Your Account