• Google

अशोक प्रधान की लग सकती है लॉटरी

By: admin
16-03-2017 16:56:27 PM

नोएडा। यहां से चार बार सांसद रह चुके और केन्द्र में अटल सरकार में मंत्री रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता अशोक प्रधान की यूपी में लॉटरी लग सकती है। 
दरअसल, भाजपा और संघ ने 2019 के लिए अभी से मंथन शुरू कर दिया है। यूपी देश का सबसे बड़ा और ज्यादातर प्रधानमंत्री देने वाला राज्य है। इसलिए भाजपा हाईकमान यहां का सीएम उसी गणित के हिसाब से बनाना 
चाहती है। ]
 
यूपी में भाजपा खेल सकती है दलित मुख्यमंत्री और ओबीसी उपमुख्यमंत्री का कार्ड
सूत्रों की माने तो पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि कांग्रेस भाजपा का कुछ बिगाडऩे की स्थिति में है नहीं। ऐसे में सिर्फ उसे सपा और बसपा को दोबारा खड़े होने से रोकना है। 
 
इसके लिए भाजपा थिंक टैंक  का एक धड़ा दलित मुख्यमंत्री और ओबीसी उपमुख्यमंत्री बनाए जाने के पक्ष में है।
 
यही कारण है कि मुख्यमंत्री पद के प्रमुख दावेदार राजनाथ सिंह, महेश शर्मा, योगी आदित्य नाथ व सिद्घार्थ नाथ सिंह के नाम पीछे होते दिख रहे हैं। 
रणनीतिकार पार्टी के वरिष्ठ दलित और ओबीसी नेताओं की छवि और उनके राजनीतिक इतिहास के साथ-साथ उनकी काबिलियत का आंकलन कर रहे हैं। उनके अपराधिक इतिहास पर विशेष गौर किया जा रहा है। 
 
रणनीतिकार अशोक प्रधान के नाम पर भी गंभीरता से विचार कर रहा है। हालांकि पिछले लोकसभा चुनाव में टिकट न मिलने से नाराज होकर उन्होंने भाजपा छोड़ कर सपा से नाता जोड़ लिया था। परंतु उस दौरान भी उन्होंने भाजपा के खिलाफ न तो कुछ बोला था और न ही उसके खिलाफ किसी गतिविधि में शामिल हुए थे। 
उनका यही नजरिया उनके पक्ष में जा रहा है। इसी के कारण भाजपा हाईकमान ने उनके इस भूल को नजर अंदाज कर 
दिया है। 
राजनीतिज्ञों का मानना है कि यदि भाजपा ने यूपी में दलित मुख्यमंत्री और ओबीसी उपमुख्यमंत्री का कार्ड खेल दिया तो वह यूपी में कांग्रेस ही नहीं सपा-बसपा मुक्त प्रदेश का माहौल बनाने की तरफ बढ़ सकती है।


Create Account



Log In Your Account