• Google

कोलकाता हाईकोर्ट के जज जस्टिस के खिलाफ वारंट जारी

By: admin
10-03-2017 12:36:41 PM

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना के एक मामले में पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक को व्यक्तिगत तौर पर न्यायमूर्ति कर्णन के खिलाफ वारंट तामील कराने के निर्देश दिये जिससे कि 31 मार्च से पहले न्यायालय में वे पेश हो सके। सुप्रीम कोर्ट के समक्ष पेश न होने पर न्यायमूर्ति सी एस कर्णन के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया गया है।
न्यायमूर्ति कर्णन को अवमानना मामले में जमानत के लिए 10 हजार रुपये का निजी मुचलका भरना होगा।

उच्चतम न्यायालय ने अवमानना नोटिस पर जवाब के रूप में न्यायमूर्ति कर्णन के पत्र पर विचार करने से इनकार किया।
बताया जा रहा है कि न्यायपालिका के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब हाई कोर्ट के मौजूदा जज को सुप्रीम कोर्ट की सात जजों की बेंच ने अवमानना नोटिस जारी किया है।

पहली बार ऐसा होगा जब हाई कोर्ट के मौजूदा जज सुप्रीम कोर्ट के जजों के सामने अवमानना के मामले में पेश होंगे।
इससे पहले सुप्रीम कोर्ट की नोटिस के बावजूद जस्टिस कर्णन सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में पेश नहीं हुए थे। लिहाजा सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस कर्णन को पेश होने का मौका देते हुए उनको तीन हफ्तों का वक्त दिया था। इस मामले में सुनवाई दस मार्च को हुई।
इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमें ये कारण नहीं पता कि जस्टिस कर्णन कोर्ट में पेश क्यों नहीं हुए। इसलिए हम इस मामले की फिलहाल सुनवाई नहीं कर रहे हैं। हम जस्टिस कर्णन से कुछ सवालों के जवाब चाहते हैं।


Create Account



Log In Your Account