• Google

कहां से जुड़े हैं अफगानी के तार

By: admin
09-03-2017 12:45:43 PM

नोएडा। ड्रग्स की पुडिय़ाएं भारत लाकर निकलवाने वाले अफगानी की गहनता से जांच-पड़ताल चल रही है। तबीयत बिगडऩे के कारण उसे मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां अब वह पूरी तरह स्वस्थ है। पुलिस ने उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू
कर दी है। एसपी सिटी
दिनेश यादव को सबसे पहले
इस मामले में अस्पताल की
ओर से सूचना दी गई थी।

ड्रग तस्करी से जोड़ कर मामले की जांच की जा रही है। पूछताछ में अब तक अब्दुल अली ने कोई खास राज नहीं खोले हैं।
- विनय प्रकाश सिंह, एसएचओ, सेक्टर-24


सूत्रों के अनुसार अफगानी नागरिक अब्दुल अली पिछले कई सालों से अफगानिस्तान से भारत आता-जाता रहा है। उसे सुगर (डायबिटीज) की बीमारी थी, जिसका इलाज वह अलग-अलग अस्पतालों में कराता था।
पुलिस सूत्रों के अनुसार अब्दुल अली सबसे पहले बत्रा अस्पताल में इलाज कराने के लिए आता था।

इसके बाद मूलचंद और जीवन अस्पताल में भी उसने काफी समय तक अपना इलाज करवाया। पुलिस पता लगा रही है कि इलाज के बहाने इन अस्पतालों में वो ड्रग्स की पुडिय़ा तो नहीं निकलवाता था। वैसे तो यह भारतीय भाषा नहीं समझता है जिसके लिए ट्रांसलेटर बुलाया जाता है।
मेट्रो अस्पताल के डॉक्टरों की माने तो उसके पेट में 8 पुडिय़ाएं थी जिसमें से 2 पुडिय़ा फट गई थी। एंडोस्कोपी के जरिए इन पुडिय़ाओं को सुरक्षित बाहर निकाला जा सकता है। पुलिस जांच कर रही है कि हर महीने भारत आने वाला अब्दुल अली क्या हमेशा पेट में ड्रग्स की पुडिय़ा लाता था। जांच पड़ताल अस्पतालों तक जा पहुंची है। पुलिस दिल्ली के अस्पतालों के डॉक्टरों से संपर्क साध रही है।


Create Account



Log In Your Account