• Google

पीएम को अपने गढ़ में सेंध लगने का डर

By: admin
06-03-2017 14:36:50 PM

यूपी चुनाव प्रचार का आखिरी दिन, मतदान 8 मार्च को मोदी बनारस के गढ़वाघाट आश्रम पहुंचे वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में डेरा डाला हुआ है। जिस तरह से वे गली मोहल्लों में घूम-घूमकर सभाएं कर रहे हैं उससे प्रतीत हो रहा है कि उन्हें अपने ही गढ़ में सेंध लगने का डर है। आज सुबह उन्होंने दिन की शुरुआत गौ सेवा से की। इसके बाद विधानसभा प्रत्याशियों के लिए वोट मांगने निकल पड़े। चर्चा है कि लोकसभा जीतने के बाद क्षेत्र में दूसरी बार गए हैं। जिसके चलते स्थानीय लोगों में रोष है। उनको साधने के लिए अब वे पूरा समय दे रहे हैं। वाराणसी में रोड शो सोमवार को लगातार तीसरे दिन भी होगा। सुबह वे सबसे पहले वे गढ़वा आश्रम पहुंचे। यहां उन्होंने गौशाला में गायों को केला और चारा खिलाया। आश्रम की तरफ से रुदाक्ष की मालाएं पहनाईं। अंतिम दौर का दम यूपी विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण का आज शाम चुनाव प्रचार थम जाएगा। सभी दलों अंतिम दिन में दम लगा दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो तीन दिन से लगातार रोड शो कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस-सपा और बसपा ने भी कोई कोसर नहीं छोड़ी रही है। बनारस पर फोकस क्यों बनारस पर फोकस की एक वजह तो ये है कि वाराणसी मोदी का संसदीय क्षेत्र है। यहां उन्हें हार का डर सता रहा था। इसी तरह, पूर्वांचल की 89 सीटों के लिए बड़े नेताओं ने वाराणसी में डेरा डाला हुआ है। यहां से पूरे पूर्वांचल पर फोकस की रणनीति है। वाराणसी में अभी 3 सीटें ही बीजेपी के पास हैं। ऐसे में, वाराणसी में सीटों की संख्या बढ़ाने पर बीजेपी नेताओं का ज्यादा जोर है। साथ ही, पूर्वांचल की 89 सीटें ही बीजेपी का यूपी में भविष्य तय करेंगी। ये हैं पीएम के प्रोग्राम... पीएम मोदी सुबह 10.50 पर डीएलडब्लू गेस्ट हाउस से गढ़वा आश्रम पहुंचे। मोदी यहां करीब 45 मिनट तक रुके। इसके बाद मोदी 11.30 पर गढ़वा आश्रम से रामनगर चौक पहुंचे। रामनगर चौक से करीब 800 आठ सौ मीटर तक मोदी जनता दर्शन करते हुए शास्त्री चौक पहुंचे। यहां वे पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री के घर जाकर श्रद्धांजलि दी। इसके बाद पीएम हैलिकॉप्टर से रोहनिया में रैली के लिए जाएंगे। रोहनिया में रैली के बाद पीएम दिल्ली के लिए निकल जाएंगे। बता दें कि मोदी ने 4 मार्च को बीएचयू से काशी विश्वनाथ मंदिर तक 12 किमी तक का रोड शो किया था। भगवान विश्वनाथ और कालभैरव के दर्शन किए थे। इसी दिन शाम को रैली भी की थी।


Create Account



Log In Your Account