1655 करोड़ से सुधरेगी मंडल की सूरत

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 1
    Share

मेरठ। मेरठ मंडल के सभी जिलों में चल रही विकास योजनाओं की समीक्षा करते हुए मडलाआयुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने रहा है कि प्रदेश सरकार की प्राथमिकता वाली 61 योजनाओं की प्रगति पर अधिक ध्यान रहा। समीक्षा के दौरान बड़े बजट वाली योजनाओं को समय से पूरा करने और मानकों के अनुरूप निर्माण कार्य पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

मजलाआयुक्त सभागार में मंडलीय विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने कहा कि प्रदेश सरकार का ध्यान प्राथमिकता वाली 61 योजनाओं पर अधिक है। ऐसे में मंडल के जिलों में चल रहे विकास कार्यो के साथ अक्टूबर में शुगर मिल चलाने, मुख्यमंत्री समग्र ग्राम योजना की कार्य योजना तैयार करने, पुष्टाहार का वितरण कराने, अधूरे निर्माण कार्यो को पूर्ण कराने के साथ सांसद निधि से अपूर्ण कार्यो को पूरा करने के लिए निर्देश दिए। आयुक्त ने कहा कि जननी सुरक्षा और आयुष्मान भारत योजना पर सरकार का पूरा ध्यान है। इन योजनाओं का पूरा लाभ पात्रों को मिलना चाहिए।

समीक्षा बैठक में डीएम मेरठ अनिल ढींगरा, गाजियाबाद रितु माहेश्वरी, बागपत ऋषिरेंद्र कुमार, बुलंदशहर अनुज झा, हापुड़ अदिति सिंह आदि मौजूद रहे। संयुक्त विकास आयुक्त राम रक्षपाल यादव ने बताया कि मंडल में 1655 करोड़ की 288 बड़ी परियोजनाओं पर काम चल रहा है। इसमें से मेरठ की 67 परियोजनाएं हैं।
निर्धारित धनराशि में से 1110 करोड़ रुपये जारी हो चुके हैं। मंडल में 36 परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी है। पूर्ण होने वाली में मेरठ की ही 6 परियोजनाएं शामिल है। जबकि 81 परियोजनाओं का काम 85 प्रतिशत तक पूर्ण हो चुका है।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 1
    Share

संबंधित ख़बरें

Leave a Comment