सुप्रीम कोर्ट से मायावती को झटका

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 2
    Shares


नई दिल्ली। चुनाव आयोग द्वारा मायावती के प्रचार पर रोक के खिलफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई। जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया। यह बसपा प्रमुख मायावती के लिए बड़ा झटका है। सुप्रीम कोर्ट ने मायावती की अर्जी पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया है। कोर्ट की ओर से कहा गया है कि चुनाव आयोग ने अपनी शक्तियों का इस्तेमाल किया है, आयोग सिर्फ आचार संहिता तोडऩे वालों पर कार्रवाई कर रहा है। गौरतलब है कि चुनाव आयोग मायावती के प्रचार पर कुछ समय के लिए बैन लगा चुका है, मायावती ने याचिका दायर कर रैली की इजाजत मांगी थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर इस तरह का बयान दोबारा आता है, तो याचिकाकर्ता फिर कोर्ट का रुख कर सकते हैं।
मालूम हो कि चुनाव आयोग ने भी सख्ती बरतते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बसपा प्रमुख मायावती, सपा नेता आजम खान और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के प्रचार करने पर निश्चित समय के लिए रोक लगा दी है।

आम आदमी पार्टी ने की चुनाव आयोग से पहचान पत्रों के जांच की मांग
आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग से 200 मतदाता पहचान पत्रों की जांच शुरू करने की मांग की है, जो पार्टी के समर्थकों ने कहा था कि उन्हें दक्षिण दिल्ली के बदरपुर में एक सड़क पर डंप मिला था। आयोग को लिखे पत्र में, पार्टी ने इसे एक ऐसा तंत्र बनाने के लिए कहा है कि जो उनके द्वारा भेजे गए मतदाता पहचान पत्र उन व्यक्तियों तक पहुंचाए, जो उनके लिए हैं। दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने मामले का संज्ञान लिया और जिला मजिस्ट्रेट से कहा कि वह जल्द से जल्द एक प्रारंभिक रिपोर्ट दे।

राजनाथ सिंह ने आज लखनऊ से किया नामांकन
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह आज लखनऊ लोकसभा सीट से पर्चा भर दिया है। नामांकन से बाद वे लखनऊ में मेगा रोड शो करेंगे। इस दौरान उनके साथ पार्टी के दिग्गज नेता रहे। लेकिन नामंाकन के समय सीएम योगी मौजूद नहीं थे। अभी तक विपक्ष की ओर से लखनऊ में किसी उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं किया गया है। हालांकि, राजनाथ के खिलाफ होमगार्ड, किसान, ऑटो ड्राइवर चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। राजनाथ के अलावा केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर भी अपना नामांकन करेंगे।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें
  • 2
    Shares

संबंधित ख़बरें