श्री लंका: राष्ट्रपति सिरिसेना को तगड़ा झटका, संसद ने प्रधानमंत्री राजपक्षे के खिलाफ दिया वोट

सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

कोलंबो। सुप्रीम कोर्ट से झटके के एक दिन बाद श्री लंका में राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना को बुधवार को तब एक और तगड़ा झटका लगा, जब संसद में नवनियुक्त प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास हो गया। विपक्ष ने राजपक्षे सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था, जिस पर बुधवार को वोटिंग हुई।

श्री लंकाई संसद के स्पीकर कारू जयसूर्या ने वोटिंग के परिणाम का ऐलान करते हुए बताया कि संसद ने प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के खिलाफ अविश्वास-प्रस्ताव को पास कर दिया है। जयसूर्या ने कहा, ‘ध्वनिमत के आधार पर पता चला है कि सरकार के पास बहुमत नहीं है।’ जिस दौरान संसद में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग हो रही थी, उस वक्त राजपक्षे समर्थक बाहर विरोध-प्रदर्शन कर रहे थे।

बता दें कि मंगलवार को श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने संसद भंग करने के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना के फैसले को पलट दिया है। यही नहीं शीर्ष अदालत ने सिरिसेना की ओर से चुनाव की तैयारियों पर भी रोक लगा दी है। सिरिसेना ने 26 अक्टूबर को प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को पद से बर्खास्त कर दिया था और उनके स्थान पर पूर्व प्रेजिडेंट महिंदा राजपक्षे को नियुक्त किया था। इस नाटकीय घटनाक्रम के बाद सिरीसेना ने संसद भंग करते हुए नए चुनाव का फैसला लिया था।


सोशल मीडिया पर यहां से शेयर करें

संबंधित ख़बरें